सड़कों पर वाहनों एवं हाथ ठेलों का जमाबड़ा, पैदल राहगीरों को निकलना हुआ मुश्किल,

सड़कों पर वाहनों एवं हाथ ठेलों का जमाबड़ा, पैदल राहगीरों को निकलना हुआ मुश्किल,

sanjeev dubey | Publish: Sep, 11 2018 01:49:37 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

त्यौहारों के समय भीड़ बढऩे से बढ़ेगी परेशानियां, जिम्मेदार नहीं दे रहे ध्यान

खिरकिया. नगर में पार्किंग व्यवस्था के अभाव में यातायात व्यवस्था प्रभावित हो रही है। मार्गों से आवागमन करना मुश्किल हो जाता है। आगामी समय में गणेश उत्सव व नवरात्रि सहित अन्य पर्वों के दौरान बाजार में चहल पहल रहेगी। ऐसे में पहले से ही गली, चौक चौराहों एवं मुख्य मार्ग पर अव्यस्थित तरीके से खड़े होने वाले वाहन आवागमन में बाधक बनते है। खिरकिया-छीपाबड़ मुख्य मार्ग पर लगभग आधा दर्जन स्थानों पर वाहनों की रेलमपेल रहती है। वाहनों चालकों द्वारा मनमर्जी से सड़क पर कहीं भी वाहन खड़े कर दिए जाते है। पार्किंग व्यवस्था नहीं होने के कारण आए दिन हादसे भी हो रहे है।

बैंकों के सामने बंद हो जाता है एक ओर का मार्ग -
नगर में संचालित बैंकों में वाहन पार्किग की व्यवस्था नहीं है। इससे बैंक शाखाओं के सामने वाहनों के जमावड़ा लगने से एक ओर का मार्ग बंद हो जाता है। स्टेट बैंक आफ इंडिया के सामने यह समस्या सबसे अधिक है। जहां बैंक मे आने वाले ग्राहक एक ओर के मार्ग पर वाहनों को खड़ा कर देते है। सेंट्रल बैंक आफ इंडिया व अन्य बैंक शाखाओं के सामने भी यही स्थिति बनती है। लेकिन बैंकों द्वार वाहन पार्किंग की व्यवस्था नहीं की जा रही है। इससे मार्ग बाधित होता है। एक ओर के मार्ग पर वाहन खड़े होने के कारण वाहन चालकों को अपनी साइड छोड़कर दूसरी साइड से नियमविरूद्ध तरीकों से वाहन निकालने पड़ते है, इससे दुर्घटना का भी अंदेशा बना रहता है।

सड़क पर होती है लोडिंग अनलोडिंग-
कृषि उपज मंडी, भारत गैस एजेंसी कार्यालय के सामने भारी वाहनों का दबाब बना रहता है। आसपास व्यापारी होने के चलते मार्ग पर वाहनों को खड़ा करके ही लोडिंग अनलोडिंग कराई जाती है। किसानों द्वारा भी कृषि सामग्री क्रय करने पर ट्रेक्टर ट्रालियों को मार्ग पर ही खड़ा कर दिया जाता है। मुख्य चौराहे पर आटो चालकों का जमावड़ा रहता है। इसी स्थान पर भी बसे भी खड़ी रहती है। रेलवे गेट बंद होने की वजह से तो पैदल राहगीरों का चलना दुभर हो जाता है। इस दौरान वाहनों की लंबी कतार लगा जाती है।

गांधी चौक मार्ग पर फल सब्जी वालों का कब्जा-
नगर के अतिव्यस्तम क्षेत्र गांधी चौक में मार्ग पर ही बाजार पसरा रहता है। यहां पर फल, सब्जी सहित अन्य विक्रेताओं द्वारा अपने हाथ ठेले एवं दुकानें लगा ली गई है। इसके अलावा वाहनों का जमावड़ा भी लगा रहता है। जिससे मार्ग से आवागमन बाधित हो गया है। मार्ग पर अतिक्रमण के कारण निकलने लोगों को दिक्कतें होती है। रेलवे गेट होने से पूर्व में ही अधिक यातायात दबाव रहता है। ऐसी स्थिति में यदि रेलवे गेट बंद हो तो पैदल राहगीरो का निकलना भी दूभर हो जाता है। पूर्व में फल सब्जी विके्रताओ को हटाकर अन्य स्थानों पर दुकान लगाने या फेरी लगाकर विक्रय करने की समझाइस दी गई थी, लेकिन कुछ दिन तक व्यवस्था बहाल रही है, लेकिन अब स्थिति जस की तस बन गई है। इसी क्षेत्र में किल्लौद विकासखंड के गांवों मे जाने का बस स्टैंड भी है। गुरूद्वारा मार्ग एवं सत्यनारायण मंदिर मार्ग, गौमुख मार्ग पर भी वाहनों की कतार लगी रहती है।

व्यवस्था सुधारने ट्रांसपोर्ट नगर की आवश्यकता -
ट्रांसपोर्ट नगर के अभाव में तंग गलियों में ट्रांसपोर्ट गतिविधियां संचालित की जाती है। जो लोगोंं के लिए परेशानी का कारण बन जाती है। पार्किंग व्यवस्थाओं को लेकर नगर परिषद भी गंभीर नहीं है। ऐसे में बेतरतीब पार्किंग से नगर में किसी भी बड़ा विवाद व दुर्घटना होने से इंकार नहीं किया जा सकता है। व्यवसायी दिनेश अग्रवाल, नारायण अग्रवाल, राजेन्द्र मालू, महेश राठौर आदि ने बताया कि नगर परिषद को ट्रांसपोर्ट गाडिय़ों को खाली कराने के लिए स्थान का आवंटन किया जाना चाहिए। ताकि मार्गो पर किसी तरह का व्यवधान उत्पन्न न हो।

इनका कहना है
यातायात पुलिसकर्मी रेलवे गेट पर तैनात किया गया है। मार्गों पर बेतरतीव खड़े वाहनों को लेकर शीघ्र ही अभियान चलाया जाएगा। नगर की यातयात व्यवस्था को बेहतर बनाने के प्रयास किए जाएंगे।
राजेश साहू, टीआई, थाना छीपाबड़

Ad Block is Banned