बड़ी दुकानें व मॉल को खुला रखवाया, छोटी दुकानें बंद करा दी

- पूर्व नप अध्यक्ष ने पुलिस प्रशासन पर दोहरा मापदंड अपनाने का आरोप लगाया

टिमरनी. लॉकडाउन के दौरान निर्धारित समय पर किराना दुकानें खुलवाने को लेकर दोहरे मापदंड अपनाए जा रहे हैं। बड़ी दुकान और मॉल को खुला रखवाया जाता है और छोटे दुकानों को पुलिस प्रशासन बल पूर्वक बंद कराता है। पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष सुभाष जायसवाल ने यह आरोप लगाते हुए बुधवार को इसकी शिकायत एसडीएम से की है। जायसवाल ने शिकायत में कहा कि लॉकडाउन के दौरान प्रभावशील लोगों की बड़ी किराना दुकानों को खुली छूट दी गई है। जबकि कुछ छोटे दुकानदारों की दुकान छूट अवधि के दौरान बंद कराई जा रही हैं। पुलिस छोटे दुकानदारों की दुकानों को बंद कराने के दौरान अभद्रता कर रही है। नियमानुसार लॉकडाउन के दौरान मॉल को बंद रखने के आदेश हंै, लेकिन नगर में इसके विपरीत मॉल खुले रहते हैं। वहां भीड़ लगी रहती है। जिस पर प्रशासन ध्यान नहीं दे रहा है। छोटी किराना तथा परचून की दुकानों को पुलिस एवं प्रशासन बंद करवा रहे हैं। बुधवार को सुबह 11 बजे छूट के दौरान टिमरनी चौराहे पर किराना की खुली दुकानों को पुलिस के जवानों ने गालीगलौज कर बंद करा दी। जबकि उसी समय शहर की अन्य बड़ी दुकान व मॉल खुले थे। लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सामग्री की दुकानों को खोलने की छूट दी गई है। लेकिन प्रशासन कुछ बड़ी दुकानों को छोड़कर छोटे एवं मध्यमवर्गीय दुकानदारों की दुकानों को छूट अवधि के दौरान बंद कराना अनुचित है। कोरोना से संघर्ष में नगर एकजुट है तो फिर प्रशासन दोहरा मापदंड क्यो अपना रहा है। इससे उन लोगों को परेशानी हो रही है जो छोटी दुकानों से उधारी में सामान खरीदते हैं। नकदी के अभाव में उन्हें सामान नहीं मिल रहा। इधर, एसडीएम अंकिता त्रिपाठी ने आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि भीड़ लगने के कारण दुकानें बंद कराई गई होगी। ऐसे जिन दुकानदारों को परेशानी हो रही है वे उनसे संपर्क कर सकते हैं। प्रशासन सभी से समानता का व्यवहार कर रहा ह

बृजेश चौकसे Editorial Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned