मतदान के लिए महिलाओंं को आकर्षिक करने बनाए जाएंगे पिंक मतदान केन्द्र

मतदान के लिए महिलाओंं को आकर्षिक करने बनाए जाएंगे पिंक मतदान केन्द्र

sanjeev dubey | Publish: Sep, 16 2018 05:25:14 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

विधानसभा चुनाव में प्रत्याशियों के बीच घामासान की बीच देखने को मिलेगा नवाचार

खिरकिया. चुनावी अधिसूचना की आहट के साथ ही निर्वाचन प्रक्रियाओं में गति तेज होती जा रही है। इस चुनाव में पार्टियों के प्रत्याशियों के बीच घमासान के साथ नवाचार भी देखने को मिलेगा। प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव 2018 में मतदाताओं की भागीदारी बढ़ाने व मतदाताओं को मतदान करने के प्रति आकर्षित करने के लिए चुनाव आयोग द्वारा नए प्रयोग किए जा रहे है। चुनाव में महिलाओं एवं दिव्यांगो का मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए अनूठे प्रयोग चुनाव में किए जाएंगे। जिसकी प्रक्रियाएं शुरू कर दी गई है। जानकारी के अनुसार चुनावों में महिला मतदाताओं की मतदान दर पुरूषो से अपेक्षाकृत कम होती है। इसके पीछे कई कारण होते है। महिलाओं को मतदान करने के लिए मतदान प्रक्रिया को आकर्षक बनाया जा रहा है। महिलाओं के लिए पिंक मतदान केन्द्र बनाएं जाएंगे। जहां पर हर चीज पिंक कलर में होगी। वहीं दिव्यांगों की भागीदारी के लिए महिला, पुरूष के अतिरिक्त तीसरा वर्ग दिव्यांग तैयार किया गया है, जिसमें दिव्यांग मतदाता अलग श्रेणी में शामिल होंगे।

पिंक मतदान केन्द्रों पर लगेगी महिलाओं की ड्यूटी-
इन मतदान केन्द्रों का कलर ही पिंक नहीं होगा, बल्कि मतदान के उपयोग में आने वाली सभी सामग्री पिंक होगी। इन केन्द्रों पर महिला अधिकारियों एवं सुरक्षाकर्मियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। उनकी गणवेश भी भी पिंक कलर में होगी। जहां महिला मतदाताओं की संख्या अधिक है, उन केन्द्रों को पिंक मतदान केन्द्रों में बदला जाएगा। इसके लिए खिरकिया तहसील में 5 केन्द्रों को पिंक मतदान केन्द्र बनाया जाएगा। जिसकी प्रक्रियाएं शीघ्र शुरू होने की बात प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा कही जा रही है। पिंक को महिलाओं का पसंदीदा कलर माना जाता है, ऐसे में उन्हें मतदान के लिए आकर्षिक करने व मतदान के प्रति जागरूकता बढ़ाने का यह तरीका ढूंढा गया है। ताकि महिलाओं की भागीदारी बढ़ सके। देश में सर्वप्रथम कर्नाटक में यह प्रयोग किया गया था। इस वर्ष चुनाव में कई नवाचार देखने को मिल सकते है।

अब दिव्यांगों की होगी तीसरी श्रेणी -
पूर्व में मतदाताओ को दो श्रेणियां महिला एवं पुरूष में ही विभाजित किया जाता था, लेकिन अब तीसरी श्रेणी दिव्यांगों की होगी। मतदान केन्द्रों की मतदाता सूची में महिला, पुरूषों के साथ तीसरी श्रेणी में दिव्यांग मतदाता होंगे। जिनका सूची में पृथक से स्थान होगा। पूर्व में पुरूष दिव्यांग को पुरूष एवं महिला दिव्यांग को महिला श्रेणी में रखा जाता था, लेकिन दोनों ही प्रकार के दिव्यांगों को उनकी एक अलग श्रेणी में पृथक से शामिल किया जा रहा है। जिसका कार्य मतदाता सूची के पुनरीक्षण कार्यों के दौरान भी किया जा रहा है। मतदान केन्द्रों के अंतर्गत ऐसे मतदाताओं को पृथक कर दिव्यांग श्रेणी में स्थान दिया जा रहा है। मतदान केन्द्रों पर दिव्यांग मतदाताओं के लिए व्हीलचेयर, रैम्प सहित अन्य व्यवस्थाएं की जाएगी।

पीले रंग में होगी मतदान विवरणिका-
मतदान केन्द्रों के बाहर अंकित की जाने वाली मतदान विवरणिका भी इस वर्ष पीले कलर में होगी। इससे वह दूर से ही प्रदर्शित होगी। पूर्व में यह सफेद रंग में होती थी, लेकिन पीले रंग में यह और अधिक आकर्षित होगी, जो मतदाताओं को विवरणिका की ओर ध्यान आकर्षित कराएंगी। जिससे कि मतदाता को अपने मतदान केन्द्र के बारे में जानकारी मिल सके। इसको लेकर कार्य प्रारंभ हो गया है। प्रारंभिक रूप से कई स्थानों पर कलर में परिवर्तन कर दिया गया है। हरदा विधानसभा क्षेत्रांतर्गत खिरकिया तहसील में 75 मतदान केन्द्र है।

इनका कहना है-
5 मतदान केन्द्रों को पिंक बनाए जाने के लिए प्रस्ताव भेजा गया है। मतदान विवरणिका भी पीले रंग में कराई जा रही है। दिव्यांग मतदाताओं को दिव्यांग श्रेणी शामिल किया गया है।
वीपी यादव, एसडीएम, खिरकिया

Ad Block is Banned