तहसीलदार ने पंचायत में लगाया राजस्व न्यायालय

आबादी सर्वे के दावे आपत्ति का किया निराकरण

By: gurudatt rajvaidya

Published: 19 Sep 2020, 08:02 AM IST

हंडिया. तहसीलदार डॉ अर्चना शर्मा ने शुक्रवार को अमले के साथ देवतलाब गांव पहुंचकर ग्राम पंचायत में राजस्व न्यायालय लगाई। ग्रामीणों की आबादी सर्वे को लेकर प्राप्त आपत्तियों को सुना। तहसीलदार डॉ. शर्मा ने बताया कि आबादी भूमि का पट्टा प्रदान कर अभिलेख का संधारण करने का कार्य किया जा रहा है। पायलट प्रोजेक्ट के अंतर्गत हरदा जिले के चयनित 11 ग्रामों में आबादी का सर्वे ड्रोन से कराया है। मौके पर पटवारी और आरआई से मिलान भी कराया है। आबादी सर्वे में किसान या ग्रामीण को शिकायत या आपत्ति का निराकरण करने ग्राम पंचायत देवतलाब सहित अन्य आबादी सर्वे वाले ग्रामों में राजस्व न्यायालय लगाया गया। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों को तहसील के चक्कर नहीं काटने पड़े, इसलिए ग्राम में ही पंचायत स्तर पर ग्रामीणों को बुलाकर दावे आपत्ति लिए गए। उन्होंने कहा कि जिले के चयनित 11 ग्राम में आबादी भूमि के पट्टे 2 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा वितरित किए जाएंगे। इसी को लेकर कार्य विगत 2 माह से चल रहा है। इसमें पटवारी राजस्व निरीक्षक सहित अमला लगा है। उन्होंने बताया कि आबादी भूमि का रिकार्ड संधारित हो जाने से ग्रामीणों को सुविधा होगी। उन्हें ग्रामीण क्षेत्रों में भूमि क्रय विक्रय, बैंक कार्य सहित मकान बनाने में सुविधा होगी। इस दौरान 12 दावे आपत्ति प्राप्त की गई। 26 ग्रामीणों को सुनकर उनकी समस्या का निराकरण मौके पर किया। इस मौके पर सरपंच, पटवारी राजीव जैन, रमेश नाग, ग्रेस डेविड, दीपक बामनिया, लोकेंद्र बामनिया, संजय किराडे, राजस्व निरीक्षक संतोष पथोरिया, पंचायत सचिव एवं कोटवार आदि उपस्थित थे।

gurudatt rajvaidya Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned