पिता-पुत्र की अर्थी उठी, परिजनों के आंसू नहीं थम रहे

पिता-पुत्र की अर्थी उठी, परिजनों के आंसू नहीं थम रहे

Gurudatt Rajvaidya | Publish: May, 05 2017 08:33:00 PM (IST) Harda, Madhya Pradesh, India

एनएच के धनतलाब घाट पर हुए हादसे का शिकार हुआ था तिवारी परिवार

हरदा. इंदौर-बैतूल राष्ट्रीय राजमार्ग पर देवास जिले के धनतलाब घाट कालापाठा के बीच शुक्रवार सुबह करीब 7.30 बजे हुए दर्दनाक हादसे का शिकार हुए पिता-पुत्र के शवों का शाम को अंतिम संस्कार किया गया। गमगीन माहौल में दोनों की अर्थी एक साथ उठते ही हर एक की आंख से आंसू छलक पड़े। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था। ज्ञात हो कि शहर के नेहरू स्टेडियम गली नंबर 2 निवासी सुरेंद्र उर्फ पप्पू तिवारी पत्नी संगीता, बेटा शुभ, बेटी शानू (स्नेहा) व मुस्कान तथा भाई अनिल उर्फ मिंटू के साथ टवेरा से हरदा की ओर आ रहे थे। परिवार इंदौर में मामा की बेटी की शादी से लौट रहा था। धनतलाब घाट खत्म होते ही ट्राला क्रमांक एमपी 14 एचबी 0210 की सामने से आ रही टवेरा क्रमांक एमपी 18 टी 2612 से भिड़ंत हो गई। हादसे में पिता-पुत्र सुरेंद्र पिता शिवप्रसाद तिवारी, शुभ पिता सुरेंद्र तिवारी की मौके पर ही मौत हो गई। सुरेंद्र की पत्नी संगीता, पुत्री शानू व मुस्कान एवं भाई अनिल तिवारी गंभीर रूप से घायल हो गए। हादसा इतना जबरदस्त था कि टवेरा पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। आसपास के लोगों की मदद से घायल और सुरेंद्र के शव को मशक्कत के बाद बाहर निकाला गया। सूचना मिलते ही बिजवाड़ व चापड़ा की डायल 100 मौके पर पहुंची। चारों घायलों को तत्काल बागली के अस्पताल भेजा गया। संगीता व अनिल को गंभीर चोट आई हंै। वहीं सुरेंद्र की बेटियां भी घायल हुई हैं। बागली से सभी को इंदौर रैफर किया गया था। अधिवक्ता सुनील तिवारी के परिवार के साथ हुई इस अनहोनी की खबर मिलते ही समाजजन व अन्य परिचित तथा रिश्तेदार उनके घर पहुंचे। मुक्तिधाम में दोनों की चिता को घायल मिंटू के बेटे रितिक ने मुखाग्नि दी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned