प्रभारी मंत्री ने दिया था भूमि हस्तांतरण का आदेश, फिर नपं को नहीं मिली गांधी चौक भवन की भूमि

-दो परिषदों का कार्यकाल निकला, कई कलेक्टरों भी बदले
-खस्ताहाल हो रहा है मौजूदा भवन

खिरकिया। नगर का हृदय स्थल कहलाने वाले गांधी चौक स्थित गांधी भवन का निर्माण इस परिषद के कार्यकाल मेें भी नहीं हो सका। इससे पहले वाली परिषद भी इस भवन का निर्माण नहीं कर पाई थी। चौंकाने वाली बात यह है इस परिषद के कार्यकाल में प्रभारी मंत्री ने प्रशासन को गांधी चौक भवन की जमीन नगर परिषद को हस्तांतरित करने के निर्देश भी दिए थे फिर भी प्रशासन ने जमीन हस्तांतरित नहीं की।
------------------
कई कलेक्टर व दो परिषद बदली, नहीं हुआ हस्तांतरण
गांधी चौक भवन निर्माण के लिए पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष रमेश लोमारे ने वर्ष 2010-15 के बीच एवं यशोदा पाटिल ने वर्ष 2015-१९ की अध्यक्षता वाली परिषद ने प्रयास किए। वहीं इनके पहले दुर्गाबाई खंडेल की परिषद में भी प्रयास हुए थे लेकिन भवन निर्माण की प्रक्रिया को प्रशस्त नहीं करा सके। नगर परिषदों ने पूर्व में गांधी चौक के नए भवन निर्माण के लिए प्रस्ताव भी लिया गया लेकिन भूमि का हस्तांतरण नहीं होने से भवन का निर्माण नहीं किया जा सका।
------
प्रभारी मंत्री के निर्देश हुए हवा
गांधी चौक की भूमि का हस्तांतरण नगर परिषद को करने प्रभारी मंत्री पीसी शर्मा भी अधिकारियों को निर्देशित कर चुके है बावजूद उसके भूमि का हस्तांतरण नहीं किया जा रहा है। जुलाई 2019 में प्रभारी मंत्री शर्मा द्वारा एक कार्यक्रम में कलेक्टर को मद परिवर्तन करते हुए भूमि का हस्तांतरण नगर परिषद को करने निर्देशित किया था। कमिश्नर द्वारा मद परिवर्तन करते हुए भूमि का हस्तांतरण की बात कही गई थी। भूिम हस्तांतरण की फाइल एसडीएम एवं कलेक्टर के बीच अटकी हुई है।
----------------
जर्जर भवन से हादसे का खतरा
गांधी चौक पर निर्मित भवन की देखरेख का जिम्मा नगर परिषद के पास है। भवन के सामने की ओर खाली परिसर मे रैलिंग एवं गेट लगा था वह भी टूट गया है। भवन के अंदर आवारा मवेशी गंदगी फैला रहे हैं। भवन कई जगह से खस्ताहाल है। भवन में से गांधी चौक पर बिजली सप्लाई होती है। ऐसी स्थिति में दुघर्टना का खतरा बना रहता है।
------------------
इनका कहना है
राजस्व विभाग से भूमि हस्तांतरित नहीं होने के कारण गांधी चौक भवन निर्माण संभव नहीं हो पा रहा है। राजस्व विभाग से मांग की गई है। भवन में जहां भी टूट-फूट हो रही है उसे दिखवाया जाएगा।
एआर सांवरे, सीएमओ खिरकिया
--

Rahul Saran Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned