गेहूं की फसल पीली होकर सूखने लगी

gurudatt rajvaidya

Publish: Dec, 07 2017 11:49:08 (IST)

Harda, Madhya Pradesh, India
गेहूं की फसल पीली होकर सूखने लगी

किसान चितिंत

टिमरनी. पहले से ही सोयाबीन एवं उड़द की फसल की अच्छी पैदावार नहीं होने से परेशान किसानों की गेहूं की फसल भी संकट के बादल मंडराने लगे है। कुछ किसानों के खेतों मे लगी गेहूं की फसल के पौधे पीले होकर ऊपर से सूखने लगे है। गेहूं फसल की यह स्थिति किसानों के लिए चिन्ता का कारण बनीं हुई है। इसी तरह गेहूं की फसल में यह बीमारी पिछले वर्ष भी दिखाई दी थी। खेत के कुछ हिस्सों मे लगी हुई गेहंू की फसल के पौधे पीले होकर ऊपर से सूखने लगे थे। करताना-तजपुरा के बीच कुछ खेतों में लगी गेहूं की फसल के पौधे पीले होकर सूखने लगे है।
बादल छाने से चने की फसल में लगने लगी इल्लियां -
वर्तमान में बदलते मौसम एवं बादल छाने से किसानों का कहना है की यह मौसम चना फसल के लिए नुकसान दायक है। जिससे फसल में इल्ली लगने की आशंका बढ़ जाती है। एक हेक्टेयर पर दो बोरी यूरिया देने का नियम किसानों के गले नहीं उतर रहा है। यूरिया का छिड़काव नहीं होने से गेहूं की फसल की बढ़त नहीं हो पा रही है। किसानों का कहना है कि जितनी ठंड बढ़ेगी उतना गेहूं की फसल के लिए फायदा होगा। अगर बारिश होती है तो यूरिया की मांग अधिक बढ़ जाएगी। एक हेक्टेयर पर दो बोरी खाद कम पड़ रहा है।
धीरे धीरे बढ़ती जा रही बीमारी-
गेहू की फसल में यह बीमारी धीरे धीरे बढ़ती जा रही है। जिसको लेकर किसान खासे चितिंत है। किसान इस बीमारी को समझ नहीं पा रहे है। किसानों का कहना है कि कृषि विभाग इस दिशा में ध्यान नहीं दे रहा है।
इनका कहना है-
गेहंू की फसल के पौधे पीले पड़कर सूख रहे तो कृषि वैज्ञानिक का दल भेजकर जांच कराई जाएगी।
राजेन्द्र सिंह राजपूत, वरिष्ट कृषि अधिकारी, टिमरनी
------------
मावठे ने बढ़ाई किसानों की परेशानी
हंडिया. क्षेत्र में मंगलवार शाम करीब ६ बजे से बूंदाबांदी हुई जो कि करीब २ घंट तक चली। जिसके चलते किसान चिंतित है। किसानों का कहना है कि गेहूं एवं चने की फसल में अभी पहला पानी निपटा है । ऐसे में बारिश होती है तो गेहंू की फसल प्रभावित होगी। वहीं चने की फसल नष्ट होने का खतरा बढ़ जाएगा। बारिश से ईट भट्टा संचालकों को परेशानी हुई। वे अपने ईट भट्टों को पॉलिथिन से ढककर भींगने से बचाव करते रहे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned