प्रदेश में उल्टी-दस्त का प्रकोप, तीन दिन में दिन मौत

प्रदेश में उल्टी-दस्त का प्रकोप, तीन दिन में दिन मौत

rakesh malviya | Publish: Sep, 04 2018 01:14:24 PM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

मौत के बाद जागा स्वास्थ्य विभाग, भीमपुर से पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम

बैतूल/रंभा। भीमपुर ब्लॉक के गांवों में उल्टी-दस्त से मौत का तांडव शुरू हो गया है। ब्लॉक के दो गांवों में पिछले तीन दिनों में तीन लोगों की मौत हो गई। उल्टी-दस्त और बुखार से मौत होना बताया जा रहा है। कोकाढाना में अभी दो दर्जन ग्रामीण उल्टी-दस्त से बीमार है। कोकाढाना में मौत का कारण दूषित पानी बताया जा रहा है। तीन मौतों के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम गांवों में पहुंची और मरीजों का इलाज किया जा रहा है। वहीं अधिकारी उल्टी दस्त से एक मौत होना बता रहे हैं। विकासखंड के ग्राम पंचायत जामू के गांव रातामाटी में उल्टी दस्त से मंजू पिता काड़मा 50 वर्ष और इंदू पिता रामजी 55 वर्ष की मौत हो चुकी है। मंजू की मौत सोमवार और इंदू की मौत एक दिन पहले हुई है। परिजनों ने बताया कि पहले सर्दी-जुकाम हुआ और फिर दूसरे दिन मौत हो गई। गांव में अभी भी चार-पांच लोग बीमार है। पंचायत चांदु के लाखाझिरी कोकढाना में उल्टी-दस्त से पीडि़त सामू पिता कामा ७५ वर्ष की शनिवार को मौत हो गई। वहीं एक दर्जन से अधिक लोग बीमार है। लगभग एक सप्ताह से लोग बीमार है। लोगों को सदी,जुकाम के बाद उल्टी दस्त हो रहे और फिर मौत हो रही है। तीन मौतों के बाद स्वास्थ्य विभाग जागा है और सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम मरीजों का इलाज करने पहुंची है।

गांव में यह लोग है बीमार
कोकाढाना में इस समय उल्टी-दस्त से अजय पिता विजेश उम्र 6 माह, मुन्नी लालसिंग 55 वर्ष, कूकय पिता भाकु 50 वर्ष, असीणा पिता भूरिया 2 साल,अशोक पिता सायबू 2 वर्ष, बसंती भूरा, सोमलाल पिता फूलू, समाए पिता काकू, सरजू पिता भूरिया,कुसमा, उमेश, कालय, मुन्ना, अनीता, सूगण्ति,अनीता, पायो, बबीता, बबली, सुनंदा, अमूल, मीजु, रमाय को उल्टी-दस्त से पीडि़त हुई है।

नाले में लगा हुआ हैंडपंप
ग्रामीणों के अनुसार कोकाढाना में तीन हैंडपंप है। एक हैंडपंप में पानी नहीं होने से बंद है। दूसरा खराब हो गया है। तीसरे हैंडपंप पर भीड़ अधिक होने से ग्रामीण गांव के पास खेत में लगे हैंडपंप में भी पानी भरने जाते हैं। यह हैंडपंप के पास नाला है। ग्रामीणों के अनुसार हैंडपंप में दूषित पानी आता है, जिसकी वजह से मौत की आशंका जताई जा रही है।

गांव में नहीं पहुंचती 108
रातामाटी और कोकढाना में वैसे तो हर वाहन पहुंचते हैं,लेकिन जब सरकारी वाहन पहुंचने की बारी आती है तो खडक़ खराब हो जाते हैं। सडक़ का बहाना बताकर संजीवनी 108 वाहन यहां नहीं पहुंचता है। ग्राम पंचायत चांदू के सरपंच बहादुर से सिंह ने बताया कि 108 वाहन गांव में नहीं आता है। इसको लेकर सोमवार बहस भी हुई है।

इनका कहना
उल्टी दस्त से एक महिला की मौत जिला अस्पताल में हुई है। मंजू की मौत उल्टी दस्त से नहीं हुई है। उसे श्वास की तकलीफ थी। तीसरी मौत की जानकारी नहीं है। टीम को गांव में भेजा गया था। 11 मरीज मिले हैं,जिसमें दो उल्टी-दस्त के हैं। इलाज किया गया है।
राजेश अतुलकर, बीएमओ भीमपुर।

Ad Block is Banned