ग्रामीणों ने रेत का अवैध परिवहन कर रहे एक दर्जन डंपर रोके

सूचना मिलते ही खनिज निरीक्षक , नायब तहसीलदार और पुलिस मौके पर पहुंची

हंडिया. मनोहरपुरा खदान से रेत का अवैध खनन व परिवहन होने की सूचना पर ग्रामीणों ने डंपर रोक लिए। यह सूचना पूर्व विधायक डॉ. आरके दोगने को दी गई तो वे मौके पर पहुंच गए। यहां अधिकारियों को भी बुलवाया गया। ज्ञात हो कि भाजपा सरकार में अवैध खनन व परिवहन का मुद्दा उठाने वाले पूर्व विधायक डॉ. दोगने अपने दल की सरकार बनने पर भी इस मुद्दे पर खुलकर सामने आए हैं। उन्हें खेड़ीनीमा ग्राम पंचायत के सरपंच विजय पटेल और कांग्रेस नेता राजेश पटेल द्वारा सूचना दी गई कि मनोहरपुरा रेत खदान से बड़े पैमाने पर अवैध उत्खनन का कार्य चल रहा है।

अधिकारियों ने रॉयल्टी की जांच
सरपंच एवं ग्रामीणों द्वारा करीब एक दर्जन डंपर रोके गए हैं। सूचना मिलते ही पूर्व विधायक भी करीब ४.३० बजे मनोहरपुरा पहुंचे। उन्होंने मामले की जानकारी खनिज, राजस्व व पुलिस विभाग को दी। इसके बाद खनिज निरीक्षक संजय सोलंकी, नायब तहसीलदार महेंद्र चौहान, एएसआई सुनील गौर मौके पर पहुंचे। जहां उन्होंने नर्मदा में खड़े लगभग एक दर्जन तथा इतने ही सडक़ पर खड़े डंपर की रॉयल्टी की जांच की।

सीएम से करेंगे शिकायत
सोलंकी ने कहा कि पकड़े गए सभी वाहनों की रॉयल्टी एवं नाप लेने के बाद स्थिति स्पष्ट होगी। सोलंकी ने बताया कि डीआईपीएल कंपनी का रकबा 10 हेक्टेयर है। देखने से ऐसा लगता है कि 15 हेक्टेयर में उत्खनन कार्य चल रहा है। सीमांकन के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी। इधर, पूर्व विधायक डॉ. दोगने का कहना रहा कि 15 से 20 हेक्टेयर में अवैध उत्खनन चल रहा है। सभी वाहनों की जांच की जाए। वे इस मामले की शिकायत मुख्यमंत्री कमलनाथ से भी करेंगे।

rakesh malviya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned