अल्प बारिश से अभी से बनने लगे जलसंकट के आसार

अल्प बारिश से अभी से बनने लगे जलसंकट के आसार

Sanjeev Dubey | Publish: Sep, 16 2018 08:00:00 AM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

जलस्तर नहीं बढऩे से 495 हैडपंपों मे से 18 अभी भी बंद, 37 मीटर नीचे पहुंचा भूमिगत जलस्तर

टिमरनी. पिछले साल की तरह इस साल भी अल्प बारिश होने की वजह से गर्मी तो दूर बारिश के मौसम में ही जलसंकट की स्थिति बनने लगी है। भूमिगत जलस्तर नहीं बढऩे से विकासखंड में 495 हैडपंपों में से 18 हैंडपंप अभी भी बंद पड़े हुए है। जो बारिश के मौसम में भी चालू नही हो सके। वहीं 40 से 45 हैंडपंप आंशिक रूप से बंद है। जिन्हें पीएची विभाग द्वारा सुधारा जा रहा है।
नदी नालों में नहीं हुआ पानी का भराव-
बारिश के मौसम में भूमिगत जल स्तर में कुछ खास बढोत्तरी नहीं होना एक चिंता का विषय बना हुआ है। बारिश नहीं होने से विकासखंड के अंतर्गत आने वाले नदी नालों, तालाबों ओर जलाशयों में भी पानी का भराव नहीं हो सका है। गर्मी में सूखने वाली नदियों की धार बारिश में ही सूखने लगी है। जो आने वाले समय में जलसंकट की स्थिति की आहट है। पहले रिमझिम बारिश होती रही । लेकिन पिछले करीब तीन सप्ताह से झमाझम बारिश तो दूर रिमझिम बारिश भी नहीं हो रही है नदी नालों में पानी नहीं भरा होने से भूमिगत जल स्तर में भी नाममात्र की बढ़ोत्तरी हुई है।

30 से 32 मीटर होना चाहिए जलस्तर, वर्तमान 37 मीटर है लेवल-
बारिश के मौसम में भूमिगत जलस्तर 30 से 32 मीटर के बीच होना चाहिए। यह भूमिगत जल स्तर संतोषजकन माना जाता है। इतना जलस्तर होने से गर्मी के दिनों में जलसंकट से राहत मिल सकती है। लेकिन वर्तमान भी भूमिगत जल स्तर 37 मीटर नीचे है। जो किसानों एवं आमजनों के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। वर्तमान जलस्तर को देखते हुए गर्मी में 50 मीटर नीचे तक जलस्तर पहुंचने की आशंका जताई जा रही है।

भूमि पूजन के बाद भी शुरू नहीं हुआ नल जल योजना का काम-
विकासखंड की ग्राम पंचायत छिदगांव तमोली, बघवाड़, करताना में करोड़ो रुपए की लगत से नल जल योजना का भूमि पूजन विधायक संजय शाह द्वारा किया गया था। लेकिन करताना में अभी तक नल जल योजना का निर्माण कार्य शुरू तक नहीं हो सका है। जिम्मेदारों की लापरवाही के चलते ग्रामीणों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है। पीएचीई विभाग के एसडीओ ने बताया कि छिदगांव तमोली, बघवाड़ में पानी की टंकी का निर्माण कार्य 50 प्रतिशत तक हो चुका है। करताना के लिए जारी टेंडर निरस्त हो गए है। अब दोबारा टेंडर बुलाए जाएंगे।

इनका कहना है-
भूमिगत जल स्तर गिरने की वजह से 18 हंैडपंप वर्तमान में भी बंद पड़े है। वत् मान मे जल स्तर 37 मीटर होना चाहिए जो 30 से 32 मीटर के नीचे है।
ठाकुर एसडीओ पीएची हरदा

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned