जानवर चराने से रोका तो दराती से काट दिया था गला..

-डेढ़ माह पहले हुए मुक्तापूर हत्याकांड का खुलासा, आरोपी गिरफ्तार
-मवेशी घुसने के विवाद में हुई थी हत्या

खिरकिया। ग्राम मक्तापूर में हुई वृद्ध की हत्या की गुत्थी डेढ़ माह बाद पुलिस ने सुलझा ली है। इस मामले में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पहले यह मामला जंगली जानवर के हमले से जोड़कर देखा जा रहा था मगर पीएम रिपोर्ट आने के बाद पूरा मामला की बदल गया था।
--------
यह है मामला
३ अक्टूबर को ग्रामीण छगन गौर और दलसिंह मवेशियों एक साथ किसान रामदास के खेत तक आए थे। छगन अपने कार्य पर चला गया था और दलसिंह मवेशी चराने चला गया। कुछ देर बाद दलसिंह की गाय छगन के मालिक के खेत में चली गई। जिस पर छगन ने दलसिंह को मवेशी हटाने के लिए कहा। इस बात पर दल सिंह और छगन गौर का विवाद हो गया। विवाद में दल सिंह ने छगन गौर को डंडा मार दिया। इससे नाराज छगन गौर ने दराती से दल ङ्क्षसह पर ताबड़तोड़ वार किए थे जिससे उसकी मौत हो गई थी।
--------------
हत्या के बाद परेशान था आरोपी
हत्या के बाद से आरोपी परेशान था और चैन से सो नहीं पा रहा था। आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसकी मृतक दल सिंह से कोई रंजिश नहीं थी। छोटे से विवाद में आए गुस्से ने इतनी बड़ी घटना करा दी। उसने अपनी पत्नी से भी बात छिपाकर रखी थी।
---------------
पुलिस को किया था गुमराह
मृतक दल सिंह के साथ आखिरी बार छगन दिखायी दिया था। पुलिस ने उसे अभिरक्षा में लेकर पूछताछ की थी और उसे छोड़ दिया था। अभिरक्षा से छूटने के बाद 9 अगस्त को सुबह 5.30 बजे आरोपी ने दराते से खुद को घायल कर पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की थी मगर सफल नहीं हो सका।
----------------
ऐसे पकड़ाया आरोपी
एसडीओपी राजेश सुल्या ने बताया कि आरोपी को जब पहले पकड़ा था। उसके हाथ में पेन पकड़ाने पर उसने बाएं हाथ में पकड़ा था। आरोपी ने पुलिस को गुमराह करने के लिए दराते से अपने दाएं पैर और दाएं हाथ में वार किया था। मेडिकल रिपोर्ट में पाया गया था कि यह घाव उतने ही गहरा है जितना एक व्यक्ति स्वयं पर कर सकता है। इससे आरोपी की गलती पकड़ी गई। उसके बाद से उससे सख्ती से पूछताछ हुई तो उसने जुर्म कबूल कर लिया।
---------------
इनका कहना है
आरोपी ने पूछताछ में अपना अपराध स्वीकार कर लिया है। गुस्से में उसने हत्या करना बताया है। आरोपी को न्यायालय में पेश किया गया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया है
भूपेंद्र गुलबाके, टीआई छीपाबड़
----------------

Rahul Saran Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned