फर्जी प्रमाणपत्र पर नौकरी कर रहे 10 अध्यापक बर्खास्त

- फर्जीवाड़े में 10 और अध्यापकों को बर्खास्त कर दिये गये हैं।

- डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय से वर्ष 2004-05 में फर्जी अंक पत्र-डिग्री से नौकरी हासिल की थी।

हरदोई. फर्जीवाड़े में 10 और अध्यापकों को बर्खास्त कर दिये गये हैं। इन्होंने डॉ. भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय से वर्ष 2004-05 में फर्जी अंक पत्र-डिग्री से नौकरी हासिल की थी। बर्खास्त अध्यापकों में दो हरदोई जिले के रहने वाले हैं। बाकी के आठ बाहरी जिलों के हैं। खंड शिक्षा अधिकारियों के माध्यम से उन्हें आदेशों की प्रति भेजी गई है। सभी की जांच एसआइटी कर रही है। जांच में 16 अध्यापक पकड़ में आए थे और शासन स्तर से उनकी बर्खास्तगी का आदेश दिया गया था। छह तो पूर्व में ही बर्खास्त कर दिए गए हैं। जबकि सूची में शामिल 10 अध्यापकों का मामला उच्च न्यायालय तक पहुंच गया था। जिसकी विधिक राय ली गई थी। बीएसए हेमंतराव ने बताया कि विधिक राय ली गई थी और उसके बाद अब बर्खास्तगी की गई है।

बीएसए द्वारा जारी आदेश के अनुसार जूनियर हाई स्कूल सराय रौनक टोडरपुर के अभिषेक कुमार, आनंद कुमार शाक्य प्राथमिक विद्यालय नरौदा हरपालपुर, गजेंद्र ङ्क्षसह प्राथमिक कासमंडी अहिरोरी निवासी , ममता त्रिपाठी जूनियर लौहारीपुरवा सांडी, सतेंद्र कुमार प्राथमिक तेरा ब्लाक भरखनी, अनिल कुमार प्राथमिक मुरबा शहाबुद्दीनपुर ब्लाक हरपालपुर, राधेश्याम जूनियर मिरगावां ब्लाक हरपालपुर, नमिता देवी जूनियर सहापुर बसुदेव ब्लाक माधौगंज, आसू जूनियर अनंगपुर ब्लाक भरखनी, विजय कुमार राजन प्राथमिक मल्लहनपुरवा माधौगंज को बर्खास्त कर दिया गया है।

आकांक्षा सिंह Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned