भाजपा में नरेश अग्रवाल के भाई उमेश की एंट्री को लेकर भाजपाई मौन!

भाजपा में नरेश अग्रवाल के भाई उमेश की एंट्री को लेकर भाजपाई मौन!
Hardoi BJP News

Shatrudhan Gupta | Publish: Oct, 24 2017 09:46:22 PM (IST) | Updated: Oct, 24 2017 09:48:44 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

भाजपा के क्षेत्रीय महामंत्री नीरज सिंह और उपाध्यक्ष गोविंद पाण्डेय ने उमेश अग्रवाल के पार्टी ज्वाइन करने की बात से इनकार किया।

हरदोई. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल के छोटे भाई पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष उमेश अग्रवाल की भाजपा में एंट्री को लेकर मंगलवार को भाजपा नेताओं ने किसी तरह की जानकारी होने से साफ इनकार कर दिया। भाजपा के क्षेत्रीय महामंत्री नीरज सिंह और उपाध्यक्ष गोविंद पाण्डेय ने उमेश अग्रवाल के पार्टी ज्वाइन करने की बात से इनकार किया।

भाजपा के दावेदारों पर लोगों की निगाहें

भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीकृष्ण शास्त्री ने कहा कि अभी तक उमेश अग्रवाल से इस संबंध में उनकी कोई बात नहीं हुई है। वे किस तरह से भाजपा में आएंगे और कब आएंगे इसकी जानकारी वही दे पाएंगे। उधर, पूर्व पालिकाध्यक्ष उमेश अग्रवाल भाजपा के टिकट से नगर पालिका अध्यक्ष पद पर चुनाव लडऩे की इच्छा जाहिर कर चुके हैं। सूत्रों का कहना है कि जल्द ही इसका खुलासा हो जाएगा, लेकिन भाजपा नेताओं द्वारा इस बारे में अनभिज्ञता जाहिर करने के बाद एक बार फिर नगर पालिका सदर सीट को लेकर भाजपा के दावेदारों पर लोगों की निगाहें टिक गई हैं।

... तो फिर सदर सीट से किसे मिलेगा भाजपा का टिकट

इस बार भाजपा सत्ता में है, लिहाजा टिकट मांगने वालों का रेला लगा हुआ है। हर सीट पर कई-कई दावेदार टिकट मांग रहे हंै। 13 नगर पालिका व नगर पंचायतों में सबसे महत्वपूर्ण सीट सदर नगर पालिका की है। दरअसल सबसे ज्यादा वोटर भी इसी नगर पालिका में है और पिछले 10 वर्षो से लगातार इस सीट पर उमेश अग्रवाल अध्यक्ष पद पर काबिज हैं। सपा के बड़े नेता और जिले की राजनीति के केन्द्र बिंदु नरेश अग्रवाल के भाई होने के नाते उमेश अग्रवाल के दलबदल के रूख को अहम माना जा रहा है। हालांकि, अभी तक तय नहीं है कि क्या होगा? मगर भाजपा से टिकट मिलने पर सियासत के नए रंग सामने आ सकते हैं। उधर, लोगों में यह भी चर्चा है कि मीडिया सेक्टर से जुड़े एक व्यक्ति को टिकट दिए जाने के लिए संगठन में पैरवी हो रही है तो दूसरी तरफ पूर्व मंत्री एवं अभी हाल में ही भाजपा में आए डॉ. अशोक बाजपेयी के करीबी व्यक्ति के लिए भी पैरवी जारी है। ऐसे में अभी यह कयास फिट नहीं हो पा रहे हंै कि भाजपा से टिकट किसे मिलेगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned