इन 50 युवा कोरोना वॉरियर्स ने अपने काम से जीता लोगों का दिल

won hearts people with their work - जब हरदोई में चारों तरफ आक्सीजन की मारामारी, आक्सीजन की कालाबाजारी हो रही थी। उस वक्त कुछ युवाओं ने मिलकर ऑक्सीजन बैंक बनाया।

By: Mahendra Pratap

Published: 20 May 2021, 06:54 PM IST

हरदोई. Hardoi 50 young Corona Warriors जब हरदोई में चारों तरफ आक्सीजन की मारामारी, आक्सीजन की कालाबाजारी हो रही थी। उस वक्त कुछ युवाओं ने मिलकर ऑक्सीजन बैंक बनाया। और गरीबों और जरुरतमंदों को आक्सीजन देकर उनकी जान बचाई। इन 50 युवा कोरोना वॉरियर्स के इस काम को देखकर कुछ लोग आगे आए और उन्होंने तकरीबन 50 खाली सिलेंडर दान में भी दिए। ये वॉरियर्स 22 अप्रैल से अब तक करीब एक हजार सिलेंडर जरुरतमंदों को उपलब्ध करा चुके हैं। इस से तमाम जानें बच गईं हैं। यह काम हरदोई में लोगों के लिए मिसाल बन गई है।

सीएम योगी के तोहफे ने जनता को कुछ मुस्कुराने का दिया मौका, जानिए ये हैं क्या

युवा टीम जुटाती है समस्त खर्चा :- इस युवा टीम ने हरदोई में ऑक्सीजन के भारी संकट के समय भरे हुए ऑक्सीजन सिलेंडर देकर बहुत से कोरोना मरीजों के लिए संकटमोचन का काम किया है। युवा टीम रात और दिन 24 घंटे इस सेवा कार्य मे लगी हुई है। सिलेंडर के जरूरतमंदों से सिर्फ डॉक्टर का पर्चा और आधार कार्ड की फ़ोटो प्रति मांगी जाती है। प्रतिदिन लोडर वाहन खाली ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर हरदोई से हमीरपुर की रिमझिम स्टील फैक्ट्री में निःशुल्क सिलेंडरों में ऑक्सीजन भरवाने के लिए जाता है। इसका वाहन के किराए से लेकर समस्त खर्चा आक्सीजन बैंक की युवा टीम जुटाती है।

लोग जमकर कर रहे काम की तारीफ :- हरदोई के विशाल ने बताया कि, इन समाजसेवियों द्वारा आक्सीजन सिलेंडर मुहैया कराके बहुत बड़ा काम किया जा रहा है। उन्हें आक्सीजन की ज़रुरत थी। जिस समय दुकानदार आक्सीजन की कालाबाजारी में लगे थे। इन समाजसेवियों से उन्हें मुफ्त में आक्सजीन मिल गयी। सौरभ गुप्ता को भी समय से आक्सीजन मिल गयी। जिससे उनके परिवार के बीमार सदस्य की जान बचाई जा सकी।

लोगों का मिल रहा भरपूर सहयोग :- आक्सीजन बैंक से जुडे पदाधिकारी अन्नु बाजपेई ने कहाकि, उन्हें लोगों का भरपूर सहयोग मिल रहा है। ये एक सामाजिक कार्य है औऱ इसमें सभी एक साथ मिलकर काम कर रहे है। समाजसेवियों के सामने आने के बाद चिकित्सा आक्सीजन की कालाबाजारी और चोरबाजारी करने वाले दुकानदार खुद ब खुद बैकफुट पर आ गये है।

Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned