जाति धर्म के आकंड़ों के दवाब में भाजपा के लिए हरदोई सीट बचाने की चुनौती

जाति धर्म के आकंड़ों के दवाब में भाजपा के लिए हरदोई सीट बचाने की चुनौती

Ruchi Sharma | Updated: 21 Apr 2019, 11:54:41 AM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

कांग्रेस यहां कहीं भी मुख्य लड़ाई में नहीं है

ग्राउंड रिपोर्ट
नवनीत द्विवेदी
हरदोई. हरदोई संसदीय सीट पर सीधा मुकाबला सपा बसपा गठबंधन और भाजपा में है। कांग्रेस यहां कहीं भी मुख्य लड़ाई में नहीं है। सपा प्रत्याशी ऊषा वर्मा इस सीट से तीन बार सांसद रह चुकी है, तो भाजपा प्रत्याशी जय प्रकाश भी यहां से तीन बार सांसद रह चुके है। इस लिहाज से दोनों के बीच सीधा कड़ा मुकाबला है। जातिगत आंकड़ों और गत लोकसभा चुनाव के सपा बसपा के मतों को जोड़कर देखा जाए तो सपा प्रत्याशी यहां सब पर भारी होने के कयास है। जबकि स्थानीय नेताओं और भाजपा के मोदी योगी फैक्टर के चलते यहां भाजपा प्रत्याशी सभी पर भारी पड़ने के कयास है। इस बार भाजपा के जीत हार के सितारे पूरी तरह से नरेंद्र मोदी के फैक्टर के सहारे नजर आते है।


पांच चुनौतियां

सपा प्रत्याशी के लिए बसपा के वोट को गठबंधन के तहत खुद के पाले में लाना, जनता के बीच माहौल बना पाने का इन्तहां है। भाजपा के लिए गत लोकसभा चुनाव की तरह मोदी फैक्टर के जादू बरकरार रखपाने, लोगों के बीच विकास और विश्वास के साथ वादों को पूरा कराने की परीक्षा है।


प्रमुख मुद्दे

अर्जुनपुर रामगंगा तट पर पुल निर्माण, फर्रुखाबाद हरदोई सीमा से लगे चियासर गंगातट पर पुल निर्माण, विल्होर कटरा हाइवे से हरपालपुर को चौंसर -कुसुमखोर वाया गुसाईपुर कन्नौज की सड़क निर्माण, सांडी की पुरानी रेल लाइन, हरदोई , शाहाबाद , सण्डीला में बाईपास सड़क का निर्माण, हरदोई सिटी में 20 वर्षों से नहीं हुआ नगर सीमा का विस्तार, पेयजल , सड़के के साथ शिक्षा चिकित्सा से जुड़े मामले प्रमुख मुद्दे है।


क्षेत्र में अब तक बड़े नेताओं की रैली

27 अप्रैल को नरेंद्र मोदी की रैली होगी। इससे पहले बसपा सुप्रीमो मायावती और सपा प्रमुख अखिलेश यादव की रैली है, जबकि मुख्यमंत्री योगी की भी रैली है।

2014 का समीकरण

2014 के लोकसभा चुनाव में हरदोई संसदीय सीट पर 56.75 फीसदी मतदान हुआ था। इस सीट पर बीजेपी उम्मीदवार अंशुल वर्मा ने बसपा उम्मीदवार शिवप्रसाद वर्मा को 83 हजार 343 वोटों से मात दी थी।

-बीजेपी के अंशुल वर्मा को 3,60,501 वोट मिले

-बसपा के शिवप्रसाद वर्मा को 2,79,158 वोट मिले

-सपा के उषा वर्मा को 2,76,543 वोट मिले

-कांग्रेस के शिव कुमार को 23,298 वोट मिले

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned