वेतन के लाले टेलीफोन एक्सचेंजों पर ताले, देखें वीडियो

Ruchi Sharma

Updated: 13 Sep 2019, 03:07:42 PM (IST)

Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

हरदोई. पूरे देश में बीएसएनएल घाटे के दंश से उबरने के लिए खर्चो में कटौती से लेकर कर्ज और घाटे से उबरने के लिए तमाम उपाय करने पर विचार कर रहा तो वही केंद्र सरकार से सहायता आदि पैकेज की उम्मीदों के बीच जिलो में टेलीफोन एक्सचेंज डीजल आदि न होने से बंद हो रहे। सेवाएं ध्वस्त हो रही है । आर्थिक संकट इतना है कि कर्मचारियों को वेतन के लाले पड़े और इस बीच आई कर्मचारियों की यूनियन्स की सदस्यता वेरिफिकेशन इलेक्शन की खबर ने आम जनता को भी भौचक कर दिया है। लाखों रुपये इस इलेक्शन पर खर्च होने का अनुमान है। 16 सितंबर को पूरे देश में यह इलेक्शन बीएसएनएल के जिला मुख्यालयों के आफिसों और टेलीफोन एक्सचेंजों में अफसरों द्वारा संपन्न कराया जाएगा। तीन वर्ष पर होने वाले इस चुनाव में ग्रुप सी और डी के कर्मचारी अपनी अपनी यूनियंस की सदस्यता को वेरिफाई कराने के लिए वोट करते है। पूरे देश में वोट की गिनती के बाद जिस यूनियन को सबसे ज्यादा मत मिलते है उसे बीएसएनल द्वारा प्रथम मान्यता दी जाती है ।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned