गंगा घाट पर पुल के लिए सुहागिन का अनूठा हठ, करवा चौथ पर भी नहीं पहने सुहाग के गहने

बीते पांच वर्षों में सांसद, विधायक, मंत्री आदि अपना वादा भूल गए, लेकिन सीमा मिश्रा अभी भी सावित्री की तरह अपने संकल्प और हठ पर डटी हुई हैं हैं।

Hariom Dwivedi

Updated: 17 Oct 2019, 07:19 PM IST

Hardoi, Hardoi, Uttar Pradesh, India

हरदोई. आज पूरे देश में सुहागिन महिलाएं करवाचौथ का पर्व मना रही हैं। इस बीच यूपी के हरदोई से आम जनमानस को झकझोरने वाली खबर आई है। जी हां, झकझोरने वाली खबर इसलिए है, क्योंकि एक कर्मयोगी सुहागिन ने करवाचौथ पर्व पर सुहाग गहनों के त्याग को संकल्पित किया है। अर्जुनपुर गंगा घाट पर पुल निर्माण की मांग को लेकर वर्ष 2014 में वट अमावस्या को गंगा घाट पर सुहाग चिन्हों को त्यागकर पुल निर्माण तक त्यागे रहने का संकल्प करने वाली इलाके की प्रमुख सामाजिक कार्यकर्ता एवं पूर्व प्रधान सीमा मिश्रा ने कहा था कि यहां पुल न होने के कारण वर्षो पूर्व नाव में सवार सैकड़ों लोग डूब गए थे, जिससे तमाम महिलाओं के सुहाग चले गए बच्चे अनाथ हो गए। मगर इसके बाद भी पुल निर्माण न हो सका मजबूरन इलाके की महिलाओं और बच्चों की आहों से आहत होकर वो भी सुहाग चिन्हों और त्योहारों का त्याग करती हैं। तब से पांच वर्ष बीत गए। सांसद, विधायक, मंत्री आदि तो पुल निर्माण के वादे को भले भूल गए, मग़र सीमा मिश्रा अभी भी सावित्री की तरह अपने संकल्प और हठ पर डटी हुई हैं।

कैसे मनाएं त्योहार जब पुल निर्माण का संकल्प अधूरा है
पत्रिका से बातचीत में सीमा मिश्रा कहती हैं कि सुहाग चिन्ह त्यागे हुए वर्षों हो चुके हैं, लेकिन सरकारों के वादे कोरे ही हैं। अब रामगंगा में डूबे लोगों की आत्माओं की उठ रही चीत्कार उनके संकल्प को दृढ़ करती है। अर्जुनपुर-बड़ागांव पुल निर्माण की अब सुन लो सरकार यही हम कहते आये है मगर कोई सुनने वाला नही हैं। महेश मिश्र कहते है कि बड़ागांव-अर्जुनपुर रामगंगा घाट पर नाव पलटने से 90 गंगा श्रद्धालु डूब गए थे। तत्कालीन विधायक हरीशंकर तिवारी के प्रयासों से पैन्टून पुल बना पर पक्के पुल का सपना अब भी अधूरा है। हरदोई फरुखाबाद को सीधे जोड़ने वाले इस रामगंगा घाट पर दशकों से डूबते रहे लोग और धुलते रहे सुहागिनों के सिन्दूर। पर जिम्मेदार हमेशा की तरह ही मौन रहे। ऐसे मैं अपनी पत्नी के जनहित के इस संकल्प में भी सदैव साथ हूं।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned