अजब - गजब: इस युवक को सुनाई पड़ने लगी थी मौत की आहट, बचने के लिए करता रहा जतन लेकिन...

अजब - गजब: इस युवक को सुनाई पड़ने लगी थी मौत की आहट, बचने के लिए करता रहा जतन लेकिन...

Akansha Singh | Publish: May, 18 2018 08:13:53 AM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

मरने वाले को कुछ दिन पूर्व ही मौत की आहट सुनाई पड़ने लगी और वह मौत से बचने के लिए जतन भी करता रहा मगर मौत ने उसे दबोच लिया।

 

हरदोई. जिले के शाहाबाद कोतवाली के मौलागंज में एक पेट्रोल पम्प के निकट अज्ञात बोलेरो की टक्कर से हुई एक युवक की मौत हो गई। इस खबर के बाद उसके पड़ोसी व रिश्तेदारों ने जो कुछ बताया उसको सुनकर लोगों के होश उड़ गए। सहसा किसी को यकीन ही नही कि क्या ऐसा भी हो सकता है। मरने वाले को कुछ दिन पूर्व ही मौत की आहट सुनाई पड़ने लगी और वह मौत से बचने के लिए जतन भी करता रहा मगर मौत ने उसे दबोच लिया ।

मृतक मोहित वर्मा उर्फ छोटे (30) पुत्र नत्थू लाल निवासी मोहल्ला गिगियानी शाहाबाद को उसकी मौत से पहले ही एहसास हो गया था जिसके चलते वह अपनी जान बचाने के लिये गिड़गिडा रहा था तथा इधर उधर छुपता घूम रहा था। मृतक मोहित की पड़ोसी तथा रिश्ते की भतीजी कान्ती एवं रिश्ते के भाई रामप्रसाद ने बताया कि मोहित कभी भी कूड़ा फेंकने नहीं जाता था लेकिन घटना वाले दिन उसने अपने घर से तीन बोरा कूड़ा निकाल कर फेंका था। दुर्घटना से कुछ समय पूर्व मोहित स्थानीय जामा मस्जिद के निकट रहने वाली अपनी चाची के घर गया था तथा उनके पैर पकड़ कर गिड़गिडा रहा था कि उसकी जान चली जायेगी उसे बचा लीजिये तथा किसी महतिया (झाडफूंक करने वाले) को दिखा दीजिये।

रामप्रसाद ने बताया कि वह पहले भी तबियत बिगड़ने पर महतिया के पास जाता था जिससे वह राहत महसूस करता था। उन्होंने यह भी बताया कि दुर्घटना से एक घंटा पूर्व वह अपने घर में ताला डालकर चाभी उनके घर पर यह कहकर दे गया था कि यह चाची को दे देना। रामप्रसाद ने बताया कि दुर्घटना से कुछ समय पूर्व जब वह उनके घर आया था तब काफी बदहवास सा था तथा अपनी हथेली पर इस प्रकार उंगलिया चला रहा था जैसे मानो किसी को फोन कर रहा हो तथा हथेली को कानों के पास लगाकर अपने आप से ही इस तरह बड़बड़ा रहा था जैसे किसी से मोबाइल से बात कर रहा हो तथा कह रहा था कि कि हम रवीश के यहां छुप जाये तो बच जायेंगे? फिर कहने लगा कि क्या यहां भी चौपहिया आ जायेगा? उसके बाद बोलने लगा कि बताओ वह कहां चला जाये कि बच जाये। इस तरह की बातें करते हुये वह उनके घर से निकल गया और थोड़ी देर बाद ही उसकी चौपहिया वाहन की टक्कर लगने से मौत की खबर आ गयी।

मोहित अक्सर शराब भी पीता था जिसके चलते उसकी बातों को किसी ने गम्भीरता से नहीं लिया लेकिन बताया जाता है कि घटना बाले दिन उसने शराब भी नहीं पी थी तथा अपनी मौत का पूर्वाभास होने के चलते वह अपनी जान बचाने के लिये ही इधर उधर छुपता घूम रहा था। विज्ञान तथा तर्क की कसौटी पर भले ही यह बातें हास्यास्पद लगती है लेकिन पड़ोसी तथा रिश्तेदार यही मान रहे हैं कि उसे चौपहिया वाहन से कुचल कर मरने का एहसास हो गया था जिसको लेकर वह काफी भयभीत था तथा बचने की जगह खोज रहा था।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned