भारतीय अर्कवंशी क्षत्रिय महासंघ के राष्ट्रीय महामंत्री ने लाल जी टंडन को लेकर दिया बड़ा बायन, SC ST एक्ट पर भी कही ये बात

भारतीय अर्कवंशी क्षत्रिय महासंघ के राष्ट्रीय महामंत्री ने लाल जी टंडन को लेकर दिया बड़ा बायन,  SC ST एक्ट पर भी कही ये बात

Ruchi Sharma | Publish: Sep, 16 2018 05:08:34 PM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 05:08:35 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

भारतीय अर्कवंशी क्षत्रिय महासंघ के राष्ट्रीय महामंत्री ने लाल जी टंडन को लेकर दिया बड़ा बायन, SC ST एक्ट पर भी कही ये बात

हरदोई. भारतीय अर्कवंशी क्षत्रिय महासंघ के तत्वाधान में महासंघ कार्यकारिणी की विचार गोष्ठी संपन्न हुई, जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में अखिल भारतीय अर्कवंशी क्षत्रिय महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओपी सिंह ने अर्कवंशी क्षत्रिय समाज की शैक्षिक आर्थिक सामाजिक एवं राजनीतिक स्थितियों के बारे में चर्चा की।

उन्होंने माननीय लाल जी टंडन द्वारा लिखित पुस्तक "अनकहा लखनऊ" में मलियाबाद संस्थापक महाराजा मल्हिय सिंह अर्कवंशी को महाराजा दूसरे समुदाय का लिखने पर नाराजगी जताते हुए पुरजोर विरोध किया। साथ ही संसद में पारित एससी एसटी एक्ट के विधेयक बिल का भी विरोध कर रोष जताया।


उन्होंने अर्कवंशी समाज में पूर्व में रहें राजा महाराजाओं की जीवनी शैक्षिक पाठ्यक्रमों में जोड़ने पर भी चर्चा की। कहा आजाद भारत के लगभग 71 वर्ष बीत जाने के बाद भी अर्कवंशी समाज को राजनीतिक भागीदारी ना मिल पाने के कारण पर भी रोष प्रकट किया। आखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओपी सिंह अर्कवंशी ने अपने संबोधन में राजनीति स्थितियों पर चर्चा करते हुए मलिहाबाद संस्थापक महाराजा मल्हिय सिंह अर्कवंशी जी की प्रतिमा मलिहाबाद चौराहा पर स्थापित करने की शासन से मांग की।

संसद में पारित एससी एसटी एक्ट एवं विधेयक बिल को वापस लेने की बात कहते हुए ओपी सिंह ने कहा कि यदि भारत सरकार में एससी एसटी एक्ट बिल वापस नहीं लिया तो अर्कवंशी समाज सड़कों पर उतर कर आंदोलन करने के लिए विवश हो जाएगा। साथी अर्कवंशी समाज की राजनीतिक भागीदारी सुनिश्चित ना हो जाने पर आगामी आने वाले लोकसभा एवं विधानसभा चुनाव में मतदान बहिष्कार करने की घोषणा की।

उन्होंने सरकार से यह भी मांग की कि अर्कवंशी समाज के लोगों को राजनीति में उनकी संख्या के अनुसार उचित स्थान दिया जाए और साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अगर SC ST एक्ट का जल्द सरकार ने कोई संशोधन नहीं किया तो वह सड़क से संसद तक सरकार के विरोध में उतर कर अपनी शक्ति दिखाएंगे यह SC ST एक्ट का संशोधन सही नहीं है।

Ad Block is Banned