बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' कार्यक्रम में शामिल हुई छात्रा की ऐसे हुई मौत, मचा हड़कंप

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' कार्यक्रम में शामिल हुई छात्रा की ऐसे हुई मौत, मचा हड़कंप

Ruchi Sharma | Publish: Oct, 13 2018 03:47:19 PM (IST) | Updated: Oct, 13 2018 04:02:03 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

वर्ल्ड रिकॉर्ड की खुशी पर भारी सिस्टम की बीमारी, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ रैली के बाद छात्रा की मौत

हरदोई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बड़ी पहल 'बेटी बचाओ और बेटी पढ़ाओ' मुहिम के प्रति जागरूकता की अलख जगाने के लिए यूपी के इस शहर में आयोजित हुए वर्ल्ड रिकॉर्ड स्तर की रैली के बाद एक छात्रा की मौत ने आयोजन की खुशी और वर्ल्ड रिकार्ड के सन्देश पर ग्रहण लगा दिया।

अफसर और कर्मचारी से लेकर जिले के लोग जो आयोजन की सराहना और खुशी से लबरेज से थे वे इस अनहोनी से भीतर ही भीतर आहत से नजर आते है । राजकीय इंटर कॉलेज हरदोई में हुई 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' रैली में गई छात्रा सुप्रिया शर्मा उम्र 14 साल पुत्री नरेश चंद शर्मा निवासी आशा नगर आर्य कन्या पाठशाला शाखा पिहानी चुंगी की छात्रा थी।


सुप्रिया शर्मा के पिता नरेश चंद शर्मा ने बताया कि सुप्रिया शर्मा स्कूल से रैली में गई थी। रैली से आने के बाद सुप्रिया को तेज बुखार आया और उसे जिला अस्पताल ले गए, जहां उसकी मौत हो गई। इस संबन्ध में बीएसए हेमन्त राव ने कहा कि रैली को लेकर सभी आवश्यक व्यवस्था की गई थी । रैली के बाद किन कारणों से छात्रा की तबियत खराब हुई जानकारी कर रहे है । छात्रा की मौत से सभी मे शोक की लहर दौड़ गई ।

आपको बताते चले कि जिले में स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर बड़ा सवाल है । अभी भी लोगों के लिए आज के दौर के लिहाज से जरूरी चिकित्सा जांच, दवाएं और मशीने उपलब्ध नहीं है । जिला मुख्यालय पर ट्रामा सेंटर जहां सिर्फ नाम भर को है वही मेडिकल कॉलेज की स्थापना अधर में है। जिला अस्पताल सिर्फ रेफर स्तर बनकर रह गया है।

चिकित्सकों की कमी के साथ ही यहां वेंटिलेटर , MRI , प्लेटलेट्स जैसी आवश्यक जीवन दायनी सुविधाएं तक नहीं है। बुखार से दम तोड़ते लोगों को लेकर स्वास्थ्य सेवाओं की कमी का दंश जिला झेल रहा है।

Ad Block is Banned