मां की जलती चिता में फेंका बड़े भाई को, लोगों के उड़े होश

मां की चिता जल रही थी। अचानक छोटे भाई ने बड़े भाई को जलती चिता में फेंक दिया। जिससे मौके पर अफरा-तफरी मच गई। कोतवाली प्रभारी नेताया...

By: Narendra Awasthi

Published: 17 Feb 2021, 09:40 PM IST

हरदोई. मां की चिता जल रही थी। अचानक छोटे भाई ने बड़े भाई को जलती चिता में फेंक दिया। जिसे देख मौके पर अफरा-तफरी मच गई। आनन फानन चिता के बीच से बड़े भाई को बाहर निकाला स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। जहां उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जाती है। लेकिन यह घटना क्षेत्र में चर्चा का विषय बना है। इस संबंध में कोतवाली प्रभारी ने बताया कि दो भाइयों के बीच का विवाद है। तहरीर मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

संडीला थाना क्षेत्र के मुसैला गांव की घटना

घटना संडीला कोतवाली क्षेत्र के मुसैला गांव की है। उक्त गांव निवासी सिताला (70) के अंतिम सांस लेते ही उसके दो पुत्र छोटेलाल (47) और दीना (55) के बीच मां के मकान को लेकर विवाद हो गया। मां की मौत के बाद यह विवाद और गहरा गया। एक तरफ घर में मां की डेड बॉडी रखी थी। दूसरी तरफ दोनों भाइयों के बीच लड़ाई झगड़ा शुरू हो गया। नाते रिश्तेदारों ने गांव वालों के साथ मिलकर दोनों भाइयों के बीच विवाद शांत कराया। बड़ी मशक्कत के बाद समझा-बुझाकर मां की अंतिम यात्रा शुरू हुई।

अंतिम संस्कार के दौरान छोटेलाल ने दीना को जलती चिता फेंक दिया। अचानक हुई इस घटना से मौक पर हड़कंप मच गया। आनन-फानन मौक पर मौजूद लोगों ने दीना को जलती चिता से बाहर निकाला और सीएचसी संडीला में भर्ती कराया। जहां उसका उपचार चल रहा है। डॉक्टरों के अनुसार उसकी हालत खतरे से बाहर है। रिश्तेदारों के अनुसार दोनों भाइयों के बीच प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण से मिले कॉलोनी को लेकर विवाद हुआ था। दीना मजदूरी करता था और संडीला कस्बे के मोहल्ला सुंबा बाग में किराए पर रहता है। जबकि छोटेलाल मां के मकान के पीछे बने कमरे मेंं रहकर मजदूरी करता था। दोनों भाई मां के कॉलोनी में कब्जा करना चाहते थे। घटना के बाद छोटा भाई छोटे लाल फरार है। संडीला कोतवाली प्रभारी ने बताया कि तहरीर के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Narendra Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned