सपा को बड़ा झटका, नरेश अग्रवाल के भाई ज्वाइन करेंगे भाजपा!

सपा को बड़ा झटका, नरेश अग्रवाल के भाई ज्वाइन करेंगे भाजपा!
Umesh Agrawal

Shatrudhan Gupta | Updated: 24 Oct 2017, 07:28:18 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

हरदोई की सियासत में रसूख रखने वाले सपा के राष्ट्रीय महासचिव व राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल के छोटे भाई भाजपा में शामिल हो सकते हैं।

हरदोई. हरदोई में समाजवादी पार्टी को बड़ा झटका लगा है। दरअसल, हरदोई की सियासत में रसूख रखने वाले सपा के राष्ट्रीय महासचिव व राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल के छोटे भाई भाजपा में शामिल हो सकते हैं। मोदी लहर में पहले लोकसभा और फिर विधानसभा चुनाव में हरदोई जिले में नरेश के तिलस्म को तोड़कर सपा की साइकिल पंक्चर करने वाली भाजपा ने अब निकाय चुनाव में कमल खिलाने के लिए नरेश अग्रवाल के परिवार में तोडफ़ोड़ की रणनीति बनाई है। इसके तहत वह उनके छोटे भाई व पूर्व पालिकाध्यक्ष उमेश अग्रवाल को अपने पाले में करने जा रही है। इसकी पुष्टि खुद नरेश के छोटे भाई उमेश अग्रवाल ने की है। उमेश के मुताबिक वे जल्द ही भाजपा में शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा में जाना पक्का हो गया है। पार्टी से सारी बातचीत लगभग फाइनल हो गई है। बस भाजपा हाईकमान के बुलावे का इंतजार है। उमेश अग्रवाल के इस फैसले से सपा को करारा झटका लगा है। फिलहाल इस संबंध में नरेश अग्रवाल से बातचीत नहीं हो पाई है।

सपा को कमजोर करने के लिए भाजपा ने खेला दांव

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक बार पुन: हरदोई में पार्टी को मजबूती देने के लिए नरेश अग्रवाल को दोबारा राष्ट्रीय महासचिव का दायित्व सौंपा। साथ ही हरदोई से ही दो नए चेहरे राजपाल कश्यप व ऊषा वर्मा को भी अपनी टीम में शामिल किया। वहीं हरदोई पर सपा मुखिया के फोकस को ध्यान में रखकर भाजपा ने निकाय चुनाव में नरेश के छोटे भाई उमेश अग्रवाल पर पासा फेका है। बताया जा रहा है कि भाजपा ने उन्हें हरदोई सदर सीट पर टिकट देने का ऑफर दिया गया है।

जनता के लिए बदल रहे हैं पार्टी

उमेश अग्रवाल ने बताया कि हरदोई शहर की जनता ने पहले उन्हें 2006 में चेयरमैन बनाया। इसके बाद उनकी पत्नी मीना अग्रवाल को विजयी बनाया। उनके मुताबिक बीते 10 साल से शहर के विकास के लिए उन्होंने जो काम किया है, उसे आगे बढ़ाने के लिए वह भाजपा में शामिल हो रहे हैं। उनका मानना है कि विकास वही करा सकता है, जिसकी सरकार हो। उन्होंने कहा कि यदि भाजपा टिकट देगी तो पालिकाध्यक्ष पद का चुनाव वह लड़ेंगे और जीतेंगे भी। उन्होंने कहा कि वह जनता के लिए पार्टी बदल रहे हैं। इससे परिवार में कोई विघटन नहीं होगा। एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि बड़े भाई से रिश्ते पहले जैसे ही रहेंगे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned