प्रधानमंत्री आवास योजना में लापरवाही पर जिलाधिकारी सख्त

जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह ने मंगलवार को प्रधानमंत्री आवास योजना नगरीय के प्रगति की समीक्षा की।

By: मुकेश कुमार

Updated: 13 Mar 2018, 03:49 PM IST

हाथरस। जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह ने प्रधानमंत्री आवास योजना नगरीय के प्रगति की समीक्षा की। शासन द्वारा जिले के लिए निर्धारित की गयी कंपनी एसबीईएनजी रेड को 1794 आवासों की अटैचमेंट लिस्ट प्राप्त हुई है। जिलाधिकारी ने संस्था द्वारा केवल 1166 भूमि चिन्हित करने पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि अपने कार्य प्रणाली में सुधार लाते हुए तेजी लाए। अन्यथा कंपनी के विरुद्ध ब्लैक लिस्ट करने की संस्तुति कर दी जायेगी। इसके अलावा जिलाधिकारी ने कंपनी के कर्मचारियों के द्वारा डीपीआर भी तेजी से करने के निर्देश दिये।


नगरीय क्षेत्रों के 3416 आवेदन हुए स्वीकृत
समीक्षा के दौरान परियोजना अधिकारी जिला नगरीय विकास अभिकरण अजूं सिंह ने बताया कि जनपद में प्राप्त आवेदनों के सापेक्ष कुल 3416 आवेदनों को स्वीकृत किया गया है। जिसके तहत हाथरस में 392, हसायन में 220, मेण्डू में 544, मुरसान में 295, पुरदिल नगर में 719, सादाबाद में 440, सहपऊ में 358, सासनी में 203, सिकन्दराराऊ में 245 आवासों को स्वीकृत किया गया है। शासन द्वारा 401 लाभार्थी का पैसा राज्यांश से देना है। जिसके तहत 171 लोगों के बैंक खाते में पैसा चला गया है। बैंको द्वारा कुछ खातों को रिजेक्ट कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि लाभार्थी को कुल 2.5 लाख रुपये दिये जाने हैं। जिसके तहत पहली किश्त 50 हजार, दूसरी 1.5 लाख तथा तीसरी किश्त में 50 हजार दिया जायेगा।


आवासों की निर्माण जांच के आदेश
समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि जिस स्थान पर आवास बनने के लिए स्वीकृत किया गया है उसी स्थान तथा उसी माडल के अनुसार आवास का निर्माण कराये जाये। सभी ईओ यह विशेष रूप से अपने जेई से जांच करवा लें कि जिन लाभार्थियों को पैसा प्राप्त हो गया है। उनके द्वारा आवास का निर्माण नियमानुसार किया जा रहा है। उन्होंने सभी एसडीएम से प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत स्वीकृत किये गये लाभार्थियों के आवासों की निरीक्षण कर लें। समीक्षा बैठक में उपजिलाधिकारी हाथरस अरूण कुमार सिंह, उपजिलाधिकारी सासनी अंजूम बी, उपजिलाधिकारी सादाबाद जयप्रकाश, उपजिलाधिकारी सिकन्दराराऊ ज्योत्स्ना बन्धु समेत की अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Show More
मुकेश कुमार
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned