ममता दिवस पर महिलाओं व किशोरियों को बताए गए एनीमिया से बचने के उपाय

बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग की ओर से जिले के आंगनबाड़ी केंद्रों पर बुधवार को ममता दिवस मनाया गया।

हाथरस। बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग की ओर से जिले के आंगनबाड़ी केंद्रों पर बुधवार को ममता दिवस मनाया गया। इस अवसर पर सभी लाभार्थियों को पोषाहार प्रदान किया गया। केन्द्रों पर मौजूद गर्भवती एवं धात्री महिलाओं सहित किशोरियों से भी एनीमिया की रोकथाम पर विस्तृत चर्चा हुई।

ममता दिवस पर बताया गया कि महिलाओं को गर्भावस्था और प्रसव के बाद संतुलित एवं विटामिन युक्त भोजन की सबसे ज्यादा जरूरत होती है। इससे मां-बच्चा दोनों का स्वास्थ्य बेहतर व अच्छा बनेगा और वह कुपोषण का शिकार बनने से बचे रहेंगे। इस दौरान जिला कार्यक्रम अधिकारी ने भी आंगनबाड़ी केंद्र पहुंचकर महिलाओं को पोषण संबंधी जानकारी दी।

बाल विकास परियोजना अधिकारी (सीडीपीओ) सासनी राहुल वर्मा ने बताया कि गर्भवती महिलाएं प्रसव के बाद विटामिन युक्त खाद्य पदार्थो को खानपान में शामिल करें। सुबह गुड़ व चना खाना चाहिए। इससे शरीर में आयरन को बढ़ाने में मदद मिलेगी। इसके अलावा गाजर चुकंदर व अनार आदि के खाने से यह शरीर में खून की मात्रा को बनाये रखता है, खून की कभी कमी नहीं होती है। ममता दिवस के आयोजन का उद्देश्य महिलाओं को पोषाहार का वितरण कर उन्हें सम्मानित करना होता है। इस तरह के कार्यक्रम से क्षेत्र की महिलाओं में भी स्वास्थ्य एवं पोषाहार के प्रति जागरूकता आती है।

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता धर्म कुमारी ने गदा खेड़ा आंगनबाड़ी केंद्र पर आई हुई गर्भवती महिलाओं को खान पान के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जिन महिलाओं का बच्चा 6 माह से छोटा है वह अपने बच्चों को केवल स्तनपान कराएं और शिशु को कम से कम 20 से 30 मिनट तक स्तनपान कराएं। जिन महिलाओं का बच्चा 6 माह से ऊपर का है, वह अपने बच्चों को स्तनपान सहित ऊपरी आहार के रूप में खिचड़ी, खीर, दलिया, उबला हुआ आलू तथा बच्चों को आंगनबाड़ी केन्द्रों पर जो पोषाहार दिया जाता है, उससे तमाम प्रकार के स्वादिष्ट आहार बना सकती हैं जैसे कतली, लड्डू, गुजिया, नमक पारे, खिचड़ी इत्यादि। बच्चे के शारीरिक व मानसिक विकास के लिए यह बहुत जरूरी है।

suchita mishra
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned