हाथरस में 777 सड़कों की गुणवत्ता जांच शुरू, 26 अधिकारियों की टीम लगाई

777 सड़कों के कोड नंबर भी जारी किए गए है। सभी निर्माण कार्यों की स्थिति, प्रगति एवं पूर्ण कार्यों का पूरा डाटा विभागीय अधिकारियों द्वारा इस पोर्टल पर अपलोड करना है

By:

Published: 30 Jun 2018, 07:43 PM IST

हाथरस। प्रदेश सरकार ने जनपद में 777 सड़कों का निर्माण कराया है, इनमें कुछ अभी निर्माणाधीन भी है। लोनिवि द्वारा 1784 किलोमीटर लंबाई की सड़कों का निर्माण किया है। वहीं प्रदेश सरकार के अन्य विभाग जैसे आरईएस, जिला पंचायत, नगर पालिका आदि को भी मिला लिया जाए तो सड़कों की लंबाई 2310 किलोमीटर है। इन सड़कों की गुणवत्ता और मॉनीटरिंग के लिए लोक निर्माण विभाग की ओर से पोर्टल तैयार किया गया है। जिससे जिले की सभी 777 सड़कों के कोड नंबर भी जारी किए गए है। सभी निर्माण कार्यों की स्थिति, प्रगति एवं पूर्ण कार्यों का पूरा डाटा विभागीय अधिकारियों द्वारा इस पोर्टल पर अपलोड करना है।

रिकॉर्ड तैयार होगा
निर्माण की जांच के लिए 26 अधिकारियों की टीम में 19 जेई, पांच सहायक अभियंता, एक अधिशासी अभियंता एवं एक अधीक्षण अभियंता को शामिल किया गया है। शासन के अधिकारियों को जानकारी देने के लिए यह टीम पोर्टल पर सड़कों की स्थिति बताने के साथ ही इसका रिकॉर्ड भी तैयार करेगी और आला अधिकारियों को सौंपेगी।

पांच जुलाई तक चलेगी जांच
5 जुलाई को अभियान पूर्ण होने के बाद एक अधीक्षण अभियंता के नेतृत्व में फिर एक टीम हाथरस आकर दो दिन तक इन सड़कों की क्रॉस चेकिंग भी करेगी। इस टीम को शासन की ओर से कुछ सड़कों का कोड नंबर बताए जाएंगे। इसके हिसाब से यह टीम क्रॉस चेकिंग करेगी। इसके बाद इनके द्वारा भेजी गई रिपोर्ट और पूर्व में भेजी गई रिपोर्ट की शासन स्तर पर समीक्षा की जाएगी। इसमें खामियां मिलने पर दोषी अधिकारियों के खिलाफ विधिवत रूप से कार्रवाई की जाएगी।

सड़कों के फोटो और वीडियो बनाए जाएंगे
लोक निर्माण विभाग के एक्सईएन आर के मिश्रा ने बताया कि शासन द्वारा जिले के सड़कों की स्थिति जानने के लिए पांच जुलाई तक अभियान चलाया जा रहा है। सड़कों की जो भी स्थिति होगी, उनका फोटो व वीडियो विभाग के पोर्टल पर अपलोड किए जाएंगे। विभाग के आला अधिकारियों के साथ विभाग के मंत्री व सीएम स्तर से समीक्षा इसकी होगी। जो भी अनियमितताएं मिलेंगी, उसके अनुसार कार्रवाई होगी।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned