कलेक्ट्रेट परिसर में पूर्व फौजी ने खाया सल्फास, ये थी वजह

कलेक्ट्रेट परिसर में पूर्व फौजी ने खाया सल्फास, ये थी वजह
suicide

suchita mishra | Publish: Aug, 04 2018 11:56:26 AM (IST) Hathras, Uttar Pradesh, India

फौजी ने खाईं सल्फास की दो गोलियां, हालत गंभीर होने पर अलीगढ़ रेफर

 

हाथरस। जिले के कलेक्ट्रेट परिसर में उस वक्त अफरा—तफरी मच गई जब छेड़छाड़ के मुकदमे से परेशान होकर एक रिटायर्ड फौजी ने सल्फास खा लिया। रिटायर्ड फौजी के खिलाफ छेड़छाड़ की शिकायत पर पुलिस ने फौजी को जेल भेजा था। इस बात से परेशान होकर पूर्व फौजी ने कलेक्ट्री परिसर में सल्फास खाकर जान देने की कोशिश की। सल्फास खाने से फौजी की हालत बिगड़ गई जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया जहां से उसे गंभीर हालत में अलीगढ़ रेफर कर दिया गया।

ये है पूरा मामला

हाथरस जिले के थाना हाथरस गेट क्षेत्र के सिद्धार्थ नगर निवासी पूर्व फौजी गजेंद्र पाठक के ऊपर कुछ समय पहले उसके घर के ही पास रहने वाली महिला ने छेड़खानी का आरोप लगाया था। जिसके चलते पुलिस ने उसे जेल भेज दिया था। इसी मामले में पूर्व फौजी गजेंद्र पाठक जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचा और उसने जिला कलेक्ट्रेट परिसर में सल्फास खा लिया, जिससे कलेक्ट्रेट परिसर में अफरा तफरी मच गयी । सूचना पर पहुंची पुलिस आनन-फानन में फौजी को बागला जिला अस्पताल ले आई। जहां चिकित्सकों ने फौजी की गंभीर हालत देखते हुए उसे अलीगढ़ रेफर कर दिया। पूर्व फौजी के जहर खाने की सूचना पर एसडीएम सदर अरुण कुमार और सीओ सिटी सुमन कनौजिया भी जिला अस्पताल पहुंच गए। एसडीएम अरुण कुमार ने बताया कि फौजी से उनकी बात हुई थी, उसे उनके पास आना था। लेकिन वह उनके पास न आकर डीएम ऑफिस पहुंच गया और वहां उसने जहर खा लिया।


छेड़छाड़ के आरोप से था परेशान

लोगों से बात करने पर चला कि पूर्व फौजी अपने ऊपर लगे छेड़छाड़ के आरोप से काफी परेशान था,उ सने परेशान होकर ही आत्महत्या करने के लिए सल्फास की 2 गोलियां खा लीं। जब उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया तब भी उसका कहना था कि वह अपनी मर्जी से मरना चाहता है। उसपर किसी का दबाव नहीं है। फौजी का आरोप है कि उसे साजिश के तहत फंसाया गया है। जिस व्यक्ति ने उसे फंसाया है उसका नाम भूदेव त्यागी बताया जा रहा है। आत्महत्या करने की कोशिश के बाद फौजी भूदेव से मिलने की बात कह रहा था।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned