सरकारी केंद्रों से नहीं खरीदी जा रही धान

सरकारी केंद्रों से नहीं खरीदी जा रही धान

suchita mishra | Publish: Nov, 15 2017 03:08:34 PM (IST) Hathras, Uttar Pradesh, India

डीएम अमित कुमार ने की समीक्षा तो पता चला कि हाथरस शहर के कुल तीन केंद्रों पर ही अब तक धान की बिक्री हुई है।

हाथरस। सूबे में धान खरीद को लेकर भले ही प्रदेश सरकार गंभीर हो, लेकिन जिला स्तर पर इस मामले में लापरवाही साफतौर पर देखी जा सकती है। हाथरस के जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह ने हाल ही जनपद में सरकारी धान खरीद क्रय केंद्रों की समीक्षा की तो मालूम पड़ा कि शहर भर में तीन धान क्रय केंद्रों पर ही अब तक खरीद हुई है।

शून्य खरीद पर होगी, केंद्र संचालक पर कारवाई
जिलाधिकारी ने कहा की हमें हर हालत में अपने धान खरीद के लक्ष्य को पूरा करना है। कहीं पर भी शून्य खरीद नहीं होनी चाहिए। ऐसे धान क्रय खरीद केंद्र जहां पर खरीद नहीं हुई या न के बराबर है, उस केंद्र के प्रभारी के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी। जिलाधिकारी अमित कुमार ने सभी उपजिलाधिकारियों को उनके क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले धान क्रय केंद्रों का निरीक्षण करने के निर्देश दिए।

Read it- एक के बाद एक मेयर बदलते रहे, बस शहर के हालात नहीं बदले

प्रधानों से संपर्क कर धान खरीद की दें जानकारी
अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 रेखा एस चौहान ने निर्देश दिया की सभी केंद्र प्रभारी अब अपने क्षेत्र में किसानों तथा प्रधानों से सम्पर्क करें, जिससे धान खरीद में तेजी आये। इसके अलावा जनपद हाथरस के कुल बोये गये धान का 25 प्रतिशत कम से कम धान खरीद में आना चाहिए। सरकार द्वारा धान खरीद के प्रचार प्रसार के लिये निर्देश दिये गये हैं। अतः व्यक्तिगत स्तर पर धान खरीद के लिए प्रयास कंरे। जिससे हम अपने लक्ष्य को समय से पूरा कर सकें। आयुक्त अलीगढ मण्डल के द्वारा आगामी बैठक में धान खरीद की केन्द्रवार समीक्षा की जायेगी।

ये अधिकारी रहे मौजूद
इस अवसर पर जिला खाद्य विपणन अधिकारी, जिला प्रबंधक पीसीएफ, मण्डी सचिव आर पी शर्मा, जिला प्रबंधक/केन्द्र प्रभारी यू0पी0 एग्रों फौरन सिंह, केन्द्र प्रभारी राजनगर सुनील कुमार, विपणन निरीक्षण रकेश कुमार, निरीक्षक बार माप अनिरूद्व कुमार तथा प्रबंधक भारतीय खाद्य निगम मनीष कुमार उपस्थित रहे।

Ad Block is Banned