रालोद का योगी सरकार के खिलाफ 'पोल खोल धावा बोल' आंदोलन स्थगित

बिजली की बढ़ी दरों के विरोध में तीन मई से शुरू होने वाला था आंदोलन

By: मुकेश कुमार

Published: 27 Apr 2018, 02:39 PM IST

हाथरस। उत्तर प्रदेश में बिजली की बढ़ी दरों के विरोध में राष्ट्रीय लोकदल की ओर से हर जिले में 'पोल खोल धावा बोल' के तहत योगी सरकार के खिलाफ आंदोलन होना था, लेकिन अब आंदोलन के स्थगित कर दिया गया है। राष्ट्रीय लोकदल पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष डॉ अनिल चौधरी ने पत्रिका से हुई वार्ता में बताया कि कैराना लोकसभा व नूरपुर विधानसभा उपचुनाव की अधिसूचना चुनाव आयोग द्वारा जारी कर दी गई है। जिसके कारण तीन मई से बिजली की बढ़ी दरों के विरोध में 'पोल खोल-धावा बोल' आंदोलन स्थगित किया जाता है।

यह भी पढ़ें- ट्यूशन नहीं पढ़ा तो एग्जाम में कर दिया फेल, डिप्रेशन में आए छात्र ने काटी हाथ की नस


जून माह में घोषित होगी अगली तारीख
रालोद पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष डॉ अनिल चौधरी ने बताया कि तीन मई से चार जून तक पूरे प्रदेश में बिजली की बढ़ी दरों के विरोध में एक बड़ा आंदोलन था। जिसके तहत चार जून प्रदेश के सभी बिजली घरों का घेराव किया जाना था। फिलहाल इसे स्थगित कर दिया गया है। उन्होंने ने बताया कि उपचुनाव की अधिसूचना खत्म होने के बाद जून माह में पार्टी के पदाधिकारियों के साथ बैठकर फिर रणनीति तैयार की जायेगी और आंदोलन किये जाने के लिए आगामी तिथि भी घोषित की जायेगी।

यह भी पढ़ें- सपा के लिए ये तीन होंगे अहम, मुलायम की मैराथन मीटिंग खोलेगी दिल्ली का रास्ता

आम जनता को आंदोलन से जोड़ने का प्रयास
रालोद नेता आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए इस आंदोलन की रणनीति तैयार कर रहे हैं। आम आदमी को भी इस आंदोलन से जोड़ने का प्रयास रहेगा। माना जा रहा है कि अगर रालोद का यह आंदोलन सफल रहा तो आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा पर असर पड़ सकता है। इसकी वजह है कि पश्चिमी यूपी में रालोद का अच्छी खासी पैठ मानी जाती है।

Show More
मुकेश कुमार
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned