आज फिर यूपी में आ सकता है भयंकर तूफान, खाने पीने के कर लें भरपूर इंतजाम

suchita mishra

Publish: Apr, 17 2018 12:20:36 PM (IST)

Hathras, Uttar Pradesh, India
आज फिर यूपी में आ सकता है भयंकर तूफान, खाने पीने के कर लें भरपूर इंतजाम

मौसम विभाग की भविष्यवाणी को देखते हुए आगरा और मथुरा के बाद हाथरस के डीएम ने भी शहर में अलर्ट घोषित किया है।

 

हाथरस। आगरा और मथुरा में जिलाधिकारी द्वारा अलर्ट घोषित करने के बाद हाथरस के जिलाधिकारी रमा शंकर मौर्य ने भी प्रेस वार्ता कर जनपद में हाई अलर्ट जारी किया है। साथ ही सभी विभागों को ऐसी आपदाओं से निपटने के लिए तैयार रहने के निर्देश दिए गए हैं। वहीं सभी जन सामान्य को सूचित किया गया है कि 17 अप्रैल को 24 घंटे में तूफान आने की आशंका व्यक्त की जा रही है। ऐसे में घरों में खाने पीने की व्यवस्था रखने व घर से सुरक्षा क साथ निकलने की अपील की गई है।

जिलाधिकारी डॉ. रमा शंकर मौर्य ने बताया है कि मौसम वैज्ञानिकों की भविष्यवाणी के अनुसार आज दिनांक 17 अप्रैल 2018 को जनसामान्य को 24 घंटे के लिए सम्भावित आंधी/तूफान से आगह किया गया है। इसके लिए डीएम ने सभी सम्बन्धित अधिकारियों को सुरक्षा व्यवस्था के दृष्टिगत रखते हुए आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित कराए जाने के निर्देश दिए हैं। डीएम ने लिखित आदेश देते हुए संबंधित विभागों को कहा है कि वे ग्रामीण क्षेत्रों के लेखपाल, ग्राम विकास अधिकारी प्रधान, राशन विक्रेता आदि के माध्यम से जनसामान्य को सम्भावित आंधी/तूफान की सूचना से अवगत कराएं। ताकि वे लोग अपने पशु, कटी फसल, मकान इत्यादि की समय से पूर्व सुरक्षा व्यवस्था हेतु आवश्यक कदम उठा सकें।

वन विभाग, नगर पालिका/नगर पंचायत/विद्युत विभाग द्वारा अपने-अपने क्षे़त्रान्तर्गत सम्भावित आंधी/तूफान से राहत बचाव कार्य हेतु टीमों का गठन कराया जाने के भी निर्देश दिए गए हैं जिससे आवश्यकता पड़ने पर तत्काल राहत कार्य प्रारम्भ हो सके। जिलाधिकारी ने निर्देश देते हुए सरकारी सम्पत्ति/भवनों की सुरक्षा व्यवस्था के समुचित इंतजाम कार्यालाध्यक्ष द्वारा कराया जाना सुनिश्चित करने के लिए कहा है। जिला चिकित्सालय/सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र/प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर आकस्मिक चिकित्सा व्यवस्था हेतु समुचित औषधि/उपकरणों तथा एम्बूलैंस की उपलब्ध की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं। यथा आवश्यक प्राइवेट हॉस्पीटल से समन्वय कर आकस्मिकता की स्थिति में उनके सहयोग हेतु समय से आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करने की भी बात कही है। अतः समस्त कार्यालाध्यक्ष अपने-अपने कार्य क्षेत्रान्तर्गत आपदा प्रबन्धन हेतु समस्त आवश्यक व्यवस्थाएं समय से सुनिश्चित करायें।

आपको बता दें कि 11 अप्रैल को तूफान ने पूरे ब्रज क्षेत्र में भयंकर तबाही मचाई थी। इसके कारण जहां सैकड़ों पेड़ गिर गए थे, वहीं किसानों की 60 फीसदी फसल बर्बाद हो गई थी। वहीं बिजली पानी की व्यवस्था भी कई इलाकों में पूरी तरह ध्वस्त हो गई थी जिसके कारण आम लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था। ऐसी परेशानी से निपटने के लिए प्रशासन ने सभी संबंधित विभागों को 17 अप्रैल को 24 घंटों तक अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं।

 

Ad Block is Banned