आचार संहिता के दौरान भूल कर भी न करें ऐसा काम, यहां है जानकारी

आचार संहिता के नियमों की जानारी के अभाव में पार्टियां सहित तमाम लोग गलतियां कर रहे हैं। इसलिए आचार संहिता के नियमों को जानना भी जरुरी है।

हाथरस। लोकसभा चुनाव की घोषणा होने के साथ ही आचार संहिता प्रभावी हो गई है। प्रत्येक जिले में आचार संहिता का उललंघन करने वालो पर प्रशासन की कड़ी नजर है। चाहे फिर वो होर्डिंग हो, नेताओं के स्लोगन हों, विभिन्न दलों द्वारा शराब आदि का वितरण हो या फिर 50 हजार से अधिक धन राशि ले जाने का मामला हो। हाल ही में जिला प्रशासन ने मुस्तैदी दिखाते हुए 05 लाख रुपए एक मुस्त ले जाने पर आचार सहिंता के तहत कार्रवाई की है। शहर में आचार संहिता के नियमों की जानारी के अभाव में पार्टियां सहित तमाम लोग गलतियां कर रहे हैं। इसलिए आचार संहिता के नियमों को जानना भी जरुरी है।

जानिए क्या है आचार संहिता ?
आचार संहिता नियम सूची होती है। इस दौरान राजनेताओं को गाइडलाइन जारी किए जाते हैं कि वे इस दौरान क्या कर सकते हैं और क्या नहीं। पार्टियों को अगर कोई बैठक या सभा करनी होगी तो उन्हें इसकी पूरी जानकारी जिला प्रशासन व पुलिस को देनी होती है। इस दौरान कोई भी राजनेता वोटरों को किसी तरह की रिश्वत नहीं देगा और इस दौरान प्रदर्शन तथा अनशन भी प्रतिबंधित रहता है। एक निश्चित सीमा से ज्यादा धन ले जाना भी आचार संहिता का उल्लंघन माना जाता है। ऐसा पाए जाने पर आप के खिलाफ कार्रवाई भी होती है। आचार संहिता लगने के बाद सभी तरह की सरकारी घोषणाएं, लोकार्पण, शिलान्यास आदि कार्यक्रमों पर भी रोक लगती है।

आचार सहिंता पर बोले उप जिला निर्वाचन अधिकारी
उप जिला निर्वाचन अधिकारी हाथरस डॉ. अशोक कुमार शुक्ला ने बताया कि आदर्श आचार संहिता प्रभावी होने के उपरांत कोई भी व्यक्ति 50 हजार रुपए से अधिक धनराशि लेकर नहीं चल सकता यदि कहीं इससे ज्यादा पैसा ले जाना हो तो उससे सम्बन्धी कागजात अपने साथ रखने होंगे। उन्होंने बताया कि अगर सम्बन्धी व्यक्ति इसे साबित करने में सक्षम नहीं होता है तो ये पैसा जब्त कर लिया जाएगा। यदि बाद में उस धनराशि से सम्बंधित कागजात मिल जाते हैं, तो एक एप्लीकेशन जिला निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय में लगाई जाती है। जिसके बाद समिति की बैठक होने के उपरांत देखा जाता है कि साक्ष्य पूरे हैं या नहीं।

जिले में हुई आचार संहिता की कार्रवाई
जनपद में हाल ही में कई मामले अचार संहिता के उल्लंघन के सामने आए हैं। जिनमें लोगों की नकदी जब्त कर ली गई है। ताजा मामला मंगलवार रात्रि का है, जिसमें 04 मैक्स गाड़ी सवार लोगों से 05 लाख रुपए पकड़े गए। जिसे कोई प्रमाण न होने के चलते वाणिज्य कर विभाग द्वारा जब्त कर आगे की कार्रवाई की गई।

 

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

UP lok sabha election Result 2019 से जुड़ी ताज़ा तरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download करें patrika Hindi News App.

BJP
Show More
अमित शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned