पति से छुटकारे के लिए पत्नी ने आशिक के साथ रची खौफनाक साजिश, पुलिस भी हैरान

पति से छुटकारे के लिए पत्नी ने आशिक के साथ रची खौफनाक साजिश, पुलिस भी हैरान

Amit Sharma | Publish: Mar, 24 2019 04:59:35 PM (IST) Hathras, Hathras, Uttar Pradesh, India

ये कहानी है पति, पत्नी और वो की। जब पुलिस ने इस कहानी से पर्दा उठाया तो हैरान रह गई।

हाथरस। ये कहानी है पति, पत्नी और वो की। ये कहानी है खत्म होते संबंधों की। ये कहानी है प्रेमी के लिए पति को मार देने की। ये कहानी है प्रेमी के लिए सबकुछ कुर्बान कर देने की। जब पुलिस ने इस कहानी से पर्दा उठाया तो हैरान रह गई। आशिक के साथ मिलकर पत्नी ने पति को मरवा दिया। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है।

21 मार्च से गायब था
पुलिस कप्तान सिद्धार्थ शंकर मीणा ने बताया कि कोतवाली सादाबाद क्षेत्र के कस्बा बिसावर निवासी करीब 32 वर्षीय युवक दिलीप कुमार पुत्र जवाहर सिंह कस्बा में ही परचून की दुकान करता था। 21 मार्च की शाम करीब 7 बजे दिलीप के मोबाइल पर किसी अज्ञात व्यक्ति का फोन आने पर वह अपनी पत्नी को 15 मिनट में आने की कहकर घर से अपनी बाइक संख्या यूपी 86 क्यू/6801 पर निकला था। घर वापस नहीं आया। अगले दिन तलाश करने पर उसकी लाश सौम्या पैलेस के सामने पैंठ के पास स्थित पोखर के किनारे मिली। दिलीप के गले व चेहरे पर तेज धारदार हथियार की चोटों के निशान मिले थे। घटना की रिपोर्ट मृतक के भाई गजेन्द्र सिंह द्वारा अज्ञात के खिलाफ दर्ज करायी गई थी।

परचून की दुकान से शुरू हुई कहानी
पुलिस कप्तान ने बताया कि उक्त घटना की विवेचना कोतवाली प्रभारी अरविन्द कुमार राठी द्वारा की गई। अपर पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ वर्मा व सीओ सादाबाद योगेश कुमार के निर्देशन में कोतवाली प्रभारी अरविन्द राठी व एसओजी प्रभारी सुधीर कुमार राघव व उनकी टीम द्वारा छानबीन के दौरान सादाबाद मथुरा रोड पर नयाबाग तिराहे से प्रांशु उर्फ प्रिंस चौधरी पुत्र अजयराज निवासी कस्बा बिसावर को गिरफ्तार किया गया। उसने पूछताछ में बताया कि दिलीप की कस्बा में परचून की दुकान है, जिस पर उसकी पत्नी मीनू भी अक्सर बैठा करती थी। दुकान पर आने जाने के दौरान उसके सम्बंध मीनू से हो गये। इस बात की जानकारी दिलीप को हुई तो उसने विरोध किया। वह अपनी पत्नी से मारपीट करता था।

हत्या में प्रयुक्त कैंची बरामद
पुलिस कप्तान ने बताया कि पूछताछ में आरोपी प्रांशु ने बताया कि इसी वजह से उसने व मृतक की पत्नी मीनू ने योजना बनायी, जिसके तहत प्रांशु ने 21 मार्च की शाम को फोन कर दिलीप को शराब देने के बहाने खेतों पर बुलवा लिया। कैंची से दिलीप पर प्रहार कर उसकी हत्या कर दी। शव को पोखर के किनारे डाल दिया। दिलापी की मोटरसाइकिल को नगला छत्ती गांव को जाने वाले रास्ते पर खड़ा कर दिया। आलाकत्ल व मोबाइल गेंहू के खेत में छिपा दिये। उन्होंने बताया कि आरोपी की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त कैंची व दो मोबाइल बरामद किये गये हैं। आरोपी के साथ सह आरोपी मीनू को योजना बनाकर हत्या करने के जुर्म में गिरफ्तार किया है।
=

टीम को मिलेगा पुरस्कार
खुलासा करने वाली टीम में कोतवाली सादाबाद प्रभारी अरविन्द कुमार राठी, एसओजी प्रभारी सुधीर कुमार राघव, हैड कांस्टेबिल मानिकचन्द्र व भूपेन्द्र तथा कांस्टेबिल रावेश कुमार व अजय कुमार शामिल थे। पुलिस कप्तान द्वारा पुलिस टीम को पुस्कृत करने का ऐलान किया गया है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned