script5 symptoms of weak immunity,treatment based on signs | Symptoms of weak immunity: कमजोर इम्यूनिटी के हैं ये 5 लक्षण, संकेतों के आधार पर करें ये उपचार | Patrika News

Symptoms of weak immunity: कमजोर इम्यूनिटी के हैं ये 5 लक्षण, संकेतों के आधार पर करें ये उपचार

Remedies to Increase Immunity: आपकी इम्युनिटी की कमजोरी का संकेत शरीर कई तरह से देता है। उन संकेतों को समझकर उपचार करने से रोग प्रतिरोधिक क्षमता को बढ़ाया जा सकता है।

Published: April 30, 2022 08:09:07 am

वायरल, बैक्टीरियल, फंगल औऱ प्रोटोजोआ के हमलों से बचाने के लिए रोग प्रतिरोधिक क्षमता का मजबूत होना जरूरी है, लेकिन अगर इम्युनिटी कमजोर होगी तो संक्रमण या रोगों से बचना मुश्किल होगा। इसलिए सबसे पहले आप अपने शरीर से मिल रहे संकेतों के आधार पर यह तय करें कि आपकी इम्युनिटी मजबूत है या नहीं।
dizziness-_fatigue_and_long_breathing_are_dangerous_signs_of_low_bp.jpg
symptoms of weak immunity
कोरोना संक्रमण का खतरा फिर से बढ़ा है और साथ में गर्मी भी कई संक्रमण के खतरे बढ़ा दी है। ऐसे में जरूरी है कि आप अपनी इम्युनिटी को लेकर गंभीर रहें। तो चलिए जानें कि किन संकेतों से पता चलता है कि इम्युनिटी कमजोर है और उसका उपचार क्या हो सकता है।
कमजोर इम्युनिटी के संकेत और उपचार-signs and treatment of weak immunity

पेट संबंधी बीमारियों से ग्रस्त होना
इम्युनिटी का करीब 70 प्रतिशत हिस्सा पेट में ही होता है और तभी बैक्टीरिया वायरस, फंगस, जैसे टॉक्सिन से लड़ने में कारगार होता है। अगर आपको पेट संबंधित बीमारियां, इंफेक्शन आदि बार-बार होते हैं तो ये कमजोर इम्युनिटी का संकेत है। इम्यून कमजोर होने से ऑटोइम्यून बीमारियों का खतरा भी बढ़ता है। उल्टी, दस्त, कब्ज-गैस की समस्या से ग्रस्त हो सकते हैं।
उपचार
पेट में होने वाली इन समस्याओं से बचने के लिए आपको खानपान पर विशेष ध्यान देना होगा। लिक्विड डाइट ज्यादा लें और ऐसी चीजें लें जिनमें प्रोबॉयोटिक्स ज्यादा हो, जैसे दही या फरमेंटिड फूड। ये आपके पेट और आंत में गुड बैक्टीरिया को बढ़ाएंगे और इससे आपका इम्युन भी मजबूत होगा।
चोट या घाव भरने में समय लगना
इम्युनिटी कमजोर होने का संकेत है कि आपकी छोटी सी चोट, घाव या फोड़ा-फुंसी भी जल्दी सही नहीं होगा। क्योंकि इम्युनिटी कमजोर होने से नई कोशिकाओं का निर्माण नहीं हो पता और घाव सूखने की प्रक्रिया स्लो होती है।
उपाय
ब्लड में मौजूद प्रतिरक्षा प्रणाली घाव भरने और नई कोशिकाओं के निर्माण के लिए जरूरी है। इसके लिए विटामिन के, डी और सी के साथ जिंक बहुत जरूरी है। डाइट में इन चीजों को बढ़ाएं। शरीर को विटामिन से कोलेजन की जरूरत होती है। विटामिन के ब्लड में को जमाने और विटामिन सी और डी घाव भरने में मदद करते हैं। जिंक रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।
हर समय थकान महसूस होना
अच्छी नींद के बाद भी थकान महसूस होना या थोड़ा काम कर के भी थक जाना थकी हुई इम्युनिटी का संकेत है। नींद ना आना भी इम्युनिटी कमजोर को बताता है। आंख के नीचे डार्क सर्कल होना या शरीर में दर्द होना भी कमजोर इम्यून सिस्टम की निशानी है।
उपचार
नियमित तौर पर योग और व्यायाम ह्रदय के लिए लाभकारी होता है और शरीर में ऊर्जा के प्रवाह को बढ़ाने में मदद करता है। ये ना केवल हमारे तंत्रिका तंत्र को मजबूत करने में सहायक होता है बल्कि थायरॉइड ग्रंथियों को भी उत्तेजित करता है, जिससे थकान और आलस दूर होता है।
मौसमी बीमारियों या संक्रमण जल्दी होना
बार-बार मौसमी बीमारी के चपेट में आना, सर्दी-जुकाम से परेशान रहना, एलर्जी का जल्दी होना कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता की ओर इशारा करता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता को कमजोर बनाता है, जिससे सांस संबंधी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है।
उपचार
धूम्रपान- शराब पीने से कमजोरर इम्युनिटी होती है। किसी भी तरह के नशे से दूर रहें और विटामिन सी युक्त चीजों को ज्यादा खाएं। खट्‌टे फल और मिनरल्स डाइट में शामिल करें। रफेज की मात्रा डाइट में बढ़ा दें। सूरजमूखी, कद्दू या सब्जा के बीज खाना शुरू कर दें।
चिंता और तनाव
चिंता औऱ तनाव शरीर में कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स छोड़ता है जो हमारे शरीर लिम्फोसाइट्स की संख्या में कमी कर इम्युनिटी को प्रभावित करता है। हमेशा तनाव और चिंता में रहने से न्यूट्रिशियस चीजें भी शरीर को नहीं लगतीं और धीरे-धीरे इम्युनिटी वीक होने लगती है।
उपाय
मेडिटेशन और योग के साथ डाइट में ओमेगा3 और 6 युक्त चीजों को बढ़ा दें। ये स्ट्रेस को हरने वाले होते हैं। विटामिन डी युक्त डाइट लें और लाफिंग एक्सरसाइज करें। हंसने के दौरान हमारे शरीर में एंटी वायरल कोशिकाएं तेजी से बनती है और हमारा इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत होता है।
तो इन संकेतों को पहचान कर अपनी इम्युनिटी का पता करें और संकेतों के आधार पर इलाज करें।

डिस्क्लेमर- आर्टिकल में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए दिए गए हैं और इसे आजमाने से पहले किसी पेशेवर चिकित्सक सलाह जरूर लें। किसी भी तरह का फिटनेस प्रोग्राम शुरू करने, एक्सरसाइज करने या डाइट में बदलाव करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

Gyanvapi Survey: सर्वे के दौरान कुएं में मिला शिवलिंग, हिन्दू पक्ष के वकील का दावाअसम में बाढ़ से 7 जिलों के लगभग 57 हजार लोग प्रभावित, बचाव कार्य में जुटी इंडियन एयरफोर्सराजस्थान में तपिश और लू बनी ‘संजीवनी’, हुआ ये बड़ा फायदाCNG Price Hike: एक साल में CNG में 69.60% की बढ़ोतरी, जानें आपके शहर की लेटेस्ट कीमतहवाई सफर होगा महंगा, Jet Fule की कीमतें 5% बढ़ी, विश्व स्तर पर बढ़ती कीमतों का असरसोनिया गांधी का ये अंदाज पंसद आया, वे मुस्कुराई तो सभी कांग्रेसी भी मुस्कुराए, देखे पूरा वीडियोमहिला बीड़ी मजदूरों ने कहा, हज़ार बीड़ी बनाने पर मिलते हैं सिर्फ  80 रुपये 80 वर्षीय मशहूर चित्रकार ने नाबालिग से 7 साल तक किया 'डिजिटल रेप', जानें क्या होता है Digital Rape
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.