जमीन पर नहीं रखना चाहिए तांबे का जग

तांबे में रखा पानी थोड़ा-थोड़ा करके ही पीना चाहिए, वरना पेट में दर्द होने लगता है

By: दिव्या सिंघल

Published: 16 Apr 2015, 10:53 AM IST

आयुर्वेद में तांबे के लोटे में रखा पानी अमृत के समान माना गया है। जानते हैं इसके फायदों के बारे में-

उपयोग
तांबा या कोई भी लोटा जिससे पानी पीना है उसे जमीन पर रखने की बजाय लकड़ी की मेज या पट्टे पर रखें क्योकि गुरूत्वाकर्षण से तांबे में मौजूद गुणकारी तत्व पानी में अवशोषित नहीं हो पाते। तांबे के लोटे में रखे पानी को सर्दी और गर्मी दोनों मौसम में पी सकते हैं।

लाभ
तांबे के लोटे में पानी रातभर रखे। सुबह कुल्ला करने के बाद खाली पेट पीने से कब्ज, एसिडिटी, गॉलब्लैडर की सिकुड़न, कुष्ठ, दाद, खुजली, एग्जिमा, दिल, लिवर व किडनी रोगों में लाभ होता है।

मात्रा
इस पानी को रोजाना एक गिलास या इससे अधिक मात्रा में पी सकते हैं।

सावधानी
ध्यान रहे कि पानी को थोड़ा-थोड़ा कर पिएं वर्ना पेटदर्द भी हो सकता है। लोटे को रोजाना धोकर भरें। तांबे के गिलास या जग का भी प्रयोग किया जा सकता है।

वैद्य बंकटलाल पारीक, आयुर्वेद विशेषज्ञ
दिव्या सिंघल
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned