scriptbenefits of eating water chestnut in winter | स्वास्थ के लिए सिंघाड़ा कितना लाभदायक होता है जानें सर्दियों में सिंघाड़े खाने के फायदे | Patrika News

स्वास्थ के लिए सिंघाड़ा कितना लाभदायक होता है जानें सर्दियों में सिंघाड़े खाने के फायदे

सिंघाड़ा सर्दियों के मौसम में पाए जाने वाला सिंघाड़ा एक ऐसा फल है, जो त्रिकोण आकार का और दो सिंग वाला होता है। यह अपने आकार और अनगिनत फायदों के लिए जाना जाता है। सिंघाड़े में कई तरह के विटामिंस और मिनरल्स पाए जाते हैं, जो संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। सिंगाड़े का अधिकतर सेवन सर्दी के मौसम में किया जाता है। यही वजह है कि सिंघाड़े को लेकर लोगों के मन में कई सवाल रहते हैं। जैसे सिंघाड़ा खाने से कौन-कौन से लाभ होते हैं सिंघाड़े की तासीर कैसी होती है।

नई दिल्ली

Published: December 07, 2021 02:37:23 pm

नई दिल्ली : सिंघाड़ा दस्त बुखार में खाना लाभपद्र होता है। इसके फल के साथ ही छिलका भी कमजोरी को दूर करने में मदद करता है। सिंघाड़े में इतने पोषक तत्व होते हैं कि आयुर्वेद में इसे बहुत सारी बीमारियों के लिए औषधि के रूप में भी प्रयोग किया जाता है। सिंघाड़ा अनिद्रा शरीर में कमजोरी पेट की समस्या त्वचा से संबंधित समस्याओं को दूर करने में फायदेमंद होता है। इसे लेकर लोगों के मन में कई तरह के सवाल रहते हैं।
benefits of eating water chestnut in winter
benefits of eating water chestnut in winter
सिंघाडे में कौन-से पोषक तत्व होते हैं
सिंघाड़ा फल पोषक तत्वों से भरपूर होता है। अकसर सर्दी के मौसम में लोग इस फल को खाना पसंद करते हैं। इसमें विटामिन ए विटामिन सी मैंगनीज कार्बोहाइड्रेट सिट्रिक एसिड मैंगनीज थायमाइन रीबोफ्लेविन फास्फोराइलेज बीटा-एमिलेज, प्रोटीन और निकोटेनिक एसिड पाया जाता है। इनके अलावा भी सिंघाड़े में कई विटामिंस और मिनरल्स होते हैं जिससे स्वास्थ्य को कई तरह से लाभ मिलता है।
सिंघाडे की तासीर क्या होती है
सिंघाड़ा सर्दी में खाया जाने वाला एक फल है। यह जलीय पौधे का फल होता है। सिंघाड़े की स्वाद मधुर और तासीर ठंडी होता है। आयुर्वेद के अनुसार ठंडा तासीर होने के कारण पित्त प्रकृति के लोग भी इसका सेवन आसानी से कर सकते हैं। इसे पित्त वात और कफ प्रकृति लोग खा सकते हैं। सिंघाड़ा रक्तपित्त और मोटापे को कम करने में फायदेमंद होता है।
सिंघाड़ा कैसे खाना चाहिए
वैसे तो अधिकतर लोग सिंघाड़े का फल खाना पसंद करते हैं। सिंघाड़े का सेवन छीलकर किया जा सकता है। आप चाहें तो कच्चे सिंघाड़े को फ्राई करके भी खा सकते हैं। इसके साथ ही सिंघाड़े का सेवन आटा के रूप में रोटी बनाकर भी किया जा सकता है।
सिंघाड़ा से सेहत को होने वाले फायदे

1. सिंघाड़ा वजन कम करने में फायदेमंद है
वजन कम करने के लिए सिंघाड़े का सेवन करना बहुत फायदेमंद होता है। सिंघाड़े में कैलोरी बहुत कम होती है जिससे वजन कम होता है। 100 ग्राम सिंघाड़े में सिर्फ 97 कैलोरी होती है। साथ ही इसमें फाइबर काफी अच्छी मात्रा में होता है। फाइबर देरी से पचता है जिससे भूख कम लगती है और वजन कम होने में मदद मिलती है। इसलिए अगर आप वजन घटाना चाहते हैं तो सिंघाड़े का सेवन कर सकते हैं। वजन घटाने के लिए यह फल बहुत फायदेमंद है।
2. सिंघाड़ा बवासीर में फायदेमंद है
सिंघाड़ा बवासीर जैसी दर्दनाक बीमारी के इलाज में भी फायदेमंद होता है। सिंघाड़े में फाइबर काफी अच्छी मात्रा में होता है जो बवासीर जैसी मुश्किल समस्याओं से भी निजात दिलाने में कारगर साबित होता है। फाइबर मल त्याग को आसान बनाता है, जिससे कब्ज की समस्या दूर होती है। जब कब्ज ठीक होने लगता है तो बवासीर की समस्या से भी निजात मिल जाता है।
3. सिंघाड़ा दांतों और हड्डियों के लिए फायदेमंद होता है
सिंघाड़े में विटामिंस और मिनरल्स काफी अच्छा मात्रा में पाए जाते हैं। इससे शरीर की कमजोरी दूर करने में मदद मिलती है। इससे दांतों और हड्डियों को मजबूती मिलती है। सिंघाड़े में कैल्शियम बहुत अधिक पाया जाता है। जिससे दांतों और हड्डियां मजबूत और बेहतर बनती है।
4. सिंघाड़ा बवासीर में फायदेमंद है
सिंघाड़ा बवासीर जैसी दर्दनाक बीमारी के इलाज में भी फायदेमंद होता है। सिंघाड़े में फाइबर काफी अच्छी मात्रा में होता है जो बवासीर जैसी मुश्किल समस्याओं से भी निजात दिलाने में कारगर साबित होता है। फाइबर मल त्याग को आसान बनाता है जिससे कब्ज की समस्या दूर होती है। जब कब्ज ठीक होने लगता है तो बवासीर की समस्या से भी निजात मिल जाता है।
5. प्रेगनेंसी या गर्भावस्था में सिंघाड़े का सेवन करना चाहिए
प्रेगनेंसी में सिंघाड़े का सेवन आसानी से किया जा सकता है। यह मां और भ्रूण दोनों के लिए फायदेमंद होता है। सिंघाड़े के सेवन से गर्भपात होने का खतरा भी कम रहता है। इतना ही नहीं इसके सेवन से पीरियड्स से संबंधित समस्याएं भी दूर होती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.