Coronavirus: वैक्‍सीनेशन के बाद संक्रमित हुए 80 फीसदी में डेल्‍टा वेरिएंट की मौजूदगी, ICMR का दावा

Coronavirus: कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में अब फिर से वृद्धि होने लगी है। दूसरी लहर अभी तक पूरी तरह से खत्म हुई ही नहीं कि तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है। सरकार और स्‍वास्‍थ्‍य विभाग द्वारा महामारी को लेकर दिशा-निर्देशों भी जारी किए जा रहे हैं।

By: Deovrat Singh

Published: 16 Jul 2021, 05:57 PM IST

Coronavirus: कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में अब फिर से वृद्धि होने लगी है। दूसरी लहर अभी तक पूरी तरह से खत्म हुई ही नहीं कि तीसरी लहर ने दस्तक दे दी है। सरकार और स्‍वास्‍थ्‍य विभाग द्वारा महामारी को लेकर दिशा-निर्देशों भी जारी किए जा रहे हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच आईसीएमआर की स्टडी के जरिए चौंकाने वाला दावा किया जा रहा है। इस स्टडी के मुताबिक, कोरोना की वैक्‍सीन लगवाने के बावजूद जो लोग संक्रमित हुए थे, उनमें से 80 प्रतिशत लोग कोरोना वायरस के डेल्‍टा वेरिएंट से संक्रमित थे।

Read More: कोरोना वायरस के डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ वैक्सीन की दोनों डोज लेना जरूरी, जानिए क्यों

हालांकि, इस स्टडी में बताया गया है कि टीका लगवा चुके लोगों में मृत्‍युदर बहुत कम थी। वैक्सीन लगवा चुके लगभग 677 लोगों पर यह स्टडी की गई थी। वैक्‍सीन लगवा चुके इन 677 लोगों में से 71 ने कोवैक्सिन की डोज ली थी जबकि बाकी 604 लोगों ने कोविशील्ड वैक्सीन की डोज लगवाई थी। प्रतिभागियों में से दो ने चीनी सिनोफार्म वैक्सीन भी ली थी। इन लोगों में से सिर्फ तीन लोगों की मौत हुई थी। आईसीएमआर का अध्‍ययन ऐसे लोगों किया गया था, जिन्‍होंने टीके की एक या दो खुराक ली थी।

Read More: ब्लड क्लॉटिंग से बचने के लिए डाइट में इन चीजों को आज से ही करें शामिल

स्टडी रिपोर्ट
कुल पॉजिटिव में 86.09% डेल्टा वेरिएंट के बी.1.617.2 से संक्रमित थे। इनमें से सिर्फ 9.8% गंभीर रूप से बीमार हुए थे, जबकि मात्र 0.4% मामलों में मौत देखी गई। इस अध्‍ययन के बाद यह सुझाव दिया गया है कि कोरोना टीकाकरण जरूरी है। टीकाकरण के बाद मौत की संभावना कम रहती है और ज्‍यादातर लोगों को अस्‍पताल में भर्ती होने की आवश्‍यकता नहीं पड़ती।

Read More: कोरोना के खिलाफ अधिक रोग प्रतिरोधक क्षमता बना सकती है स्पूतनिक-वी की एक खुराक

विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख डॉ. टेड्रोस एडहनॉम गिब्रयेसॉस के मुताबिक, “कमेटी ने चिंता जताई है कि कोविड- 19 महामारी को लेकर ग़लत राय बनाई जा रही है कि ये ख़त्म होने जा रही है, जबकि फिलहाल ये महामारी ख़त्म होने के नज़दीक भी नहीं है।

Deovrat Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned