क्या आप जानते हैं, रक्तदान से कोलेस्ट्रॉल, मोटापा, ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता

क्या आप जानते हैं, रक्तदान से कोलेस्ट्रॉल, मोटापा, ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता

Ramesh Kumar Singh | Updated: 14 Jun 2019, 01:59:14 PM (IST) स्वास्थ्य

रक्तदान से कोलेस्ट्रॉल, मोटापा, ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है। रोग रोग प्रतिरोधकता बढ़ती है। 18 से 60 साल के स्वस्थ व्यक्ति जिनका हीमोग्लोबिन 12 से ज्यादा हो वे रक्तदान कर सकते हैं। इसके तीन-चार माह बाद दोबारा खून दे सकते हैं।

रक्तदान से शरीर में रक्त बनने की प्रक्रिया तेज होती है। इससे शरीर में नई कोशिकाएं बनती हैं जो खून को पतला करती हैं। पिंपल्स और दाग सही होने लगते हैं। रक्तदान के बाद तरल पदार्थ ज्यादा लें। नारियल पानी, ताजे फ लों का जूस व सूप ले सकते हैं। शरीर पर किसी प्रकार का टैटू बनवाया है तो जीवन में रक्तदान नहीं कर सकते हैं। इसका कारण टैटू बनवाते समय इस्तेमाल होने वाली सुई संक्रमित हो सकती है। यदि किसी बीमारी का इलाज चल रहा है तो चिकित्सक की सलाह से खून दें।
जरूरी बातें
1- रक्तदान से शरीर में किसी तरह की कमजोरी नहीं आती।
2- मासिकधर्म, गर्भावस्था और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को रक्तदान नहीं करना चाहिए।
3- रक्तदान करने से हीमोग्लोबिन पर कोई फर्क नहीं पड़ता है।
4- रक्तदान के बाद रक्तचाप नहीं बढ़ता व कमजोरी नहीं आती है।
5- रक्तदान से एक दिन पहले धूम्रपान, मदिरापान न करें।
6- आधे घंटे बाद रक्तदाता अपने सामान्य काम कर सकता है।
एक्सपर्ट : डॉ. रचना नारायण, हेमेटोलॉजिस्ट, जयपुर

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned