scriptशरीर स्वस्थ रखता व दूसरों की जान भी बचाता रक्तदान | Donating blood keeps the body healthy | Patrika News
स्वास्थ्य

शरीर स्वस्थ रखता व दूसरों की जान भी बचाता रक्तदान

रक्तदान को महादान कहा गया है। इससे किसी जरूरतमंद मरीज की जान बचाई जा सकती है। इससे स्वयं का शरीर भी स्वस्थ रहता है। स्वस्थ व्यक्ति 90 दिनों के बाद फिर से रक्तदान कर सकता है। वहीं महिला रक्तदान करती है तो उसे कम से कम 120 दिनों के बाद ही पुन: रक्तदान करना चाहिए।

जयपुरJun 09, 2024 / 05:07 pm

Jyoti Kumar

Blood Donation

Blood Donation

रक्तदान को महादान कहा गया है। इससे किसी जरूरतमंद मरीज की जान बचाई जा सकती है। इससे स्वयं का शरीर भी स्वस्थ रहता है। स्वस्थ व्यक्ति 90 दिनों के बाद फिर से रक्तदान कर सकता है। वहीं महिला रक्तदान करती है तो उसे कम से कम 120 दिनों के बाद ही पुन: रक्तदान करना चाहिए।

ब्लड डोनेट करें तो ये बातें ध्यान रखें

रक्तदान करने से शरीर स्वस्थ रहता है क्योंकि इससे शरीर के अंदर वसा का जमाव नहीं हो पाता। यदि किसी को ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, खून की कमी, हेपेटाइटिस, सिकल सेल, हीमोफीलिया इत्यादि में से कोई भी बीमारी हो तो उन्हें रक्तदान नहीं करना चाहिए। जिस दिन रक्तदान करते हैं उस दिन व्यायाम या अन्य कोई हैवी काम न करें। हल्का भोजन करें। पानी पर्याप्त मात्रा में पीएं व तरल की कमी न होने दें। पॉलीसिथेमिया के मरीजों को नियमित रूप से दो-तीन माह में एक बार रक्तदान अवश्य करना चाहिए। क्योंकि इस रोग में हीमोग्लोबिन का स्तर 18-20 ग्राम तक हो जाता है।

50 वर्ष से अधिक उम्र वाले न करें

रक्तदाता के शरीर में हीमोग्लोबिन का स्तर कम से कम 13 ग्राम होना चाहिए। साथ ही 50 वर्ष से ज्यादा उम्र वाले लोगों को रक्तदान नहीं करना चाहिए। अगर उनका ब्लड ग्रुप दुर्लभ हो तो ही रक्तदान करना चाहिए। अगर किसी को रक्तदान करते समय बुखार या सर्दी-जुकाम हो तो भी ब्लड डोनेट नहीं करना चाहिए। रक्तदान के 15 दिन से लेकर तीन महीने तक की अवधि में शरीर में रक्त की पूर्ति हो जाती है।
  • डॉ. सुधीर गांगेय, फिजिशियन

Hindi News/ Health / शरीर स्वस्थ रखता व दूसरों की जान भी बचाता रक्तदान

ट्रेंडिंग वीडियो