scriptsymptoms of omicron | क्या आम सर्दी जुखाम भी हो सकते हैं ओमीक्रोन के लक्षण | Patrika News

क्या आम सर्दी जुखाम भी हो सकते हैं ओमीक्रोन के लक्षण

आम सर्दी जुकाम भी ओमीक्रोन के लक्षण में शामिल हो सकते हैं । आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताऐंगे की ओमीक्रोन के लक्षण और आम सर्दी जुकाम में क्या अंतर है। हम आपको बताएंगे कि किस प्रकार आप जान सकते हैं कि आप ओमीक्रोन का शिकार हो गए हैं।

नई दिल्ली

Updated: December 27, 2021 09:36:18 pm

नई दिल्ली। ओमीक्रोन' वेरिएंट काफी तेजी से फैलता है, मगर इसके लक्षण बाकी वेरिएंट्स की तुलना में हल्‍के हैं। ऐसा क्‍यों है? एक स्‍टडी की मानें तो वायरस अपने आप को 'इंसानों जैसा' लुक देने की कोशिश कर रहा है। यह म्‍यूटेशन का नतीजा है। रिसर्चर्स के अनुसार, म्‍यूटेशन के दौरान इसने किसी और वायरस, शायद आम सर्दी वाले वायरस के जेनेटिक मैटीरियल का कुछ हिस्‍सा ले लिया।रिसर्चर्स के मुताबिक, इसका मतलब यह कि वायरस तेजी से फैल सकता है, मगर बीमारी हल्‍की होगी या फिर एसिम्‍पटोमेटिक रहेंगे। ओमीक्रोन की खासियतें इशारा करती हैं कि यह वायरल रीकॉम्बिनेशन का नतीजा है, जो कि दो अलग-अलग वायरसों के एक ही होस्‍ट सेल में इंटरऐक्‍ट करने को कहते हैं।
symptoms of omicron
क्या आम सर्दी जुखाम भी हो सकते हैं ओमीक्रोन के लक्षण
गले में खराश- दक्षिण अफ्रीकी डॉक्टर, एंजेलिक कोएत्जीका कहना है कि ओमिक्रॉन से संक्रमित मरीज गले में खराश की जगह चुभन का अनुभव कर रहे हैं, जो असामान्य है। गले में खराश और चुभन काफी हद तक एक तरह ही हो सकते हैं।
हल्का बुखार- बुखार COVID-19 के आम लक्षणों में से एक है। कोरोना के पिछले वैरिएंट में हल्के से तेज बुखार तक के लक्षण देखे जा रहे थे।डॉक्टर कोएत्जी के अनुसार, ओमिक्रॉन के मरीजों को हल्का बुखार हो रहा है जो अपने आप ही ठीक हो जाता है।
सूखी खांसी- ओमिक्रॉन के मरीजों को सूखी खांसी भी हो सकती है। ये एक ऐसा लक्षण है जो कोरोना के अब तक के सभी स्ट्रेन में देखा गया है। आमतौर पर ये सूखी खांसी गले में खराश के साथ ही आती है।
डाक्टर और एक्सपर्ट का कहना है कि चूंकि ओमिक्रॉन गले में बढ़ता है इसलिए इससे गंभीर निमोनिया नहीं होगा। ओमिक्रॉन के लक्षण डेल्टा से भी हल्के होते हैं, लेकिन यह पिछले वैरिएंट की तुलना में 7 गुना अधिक फैलने वाला है। इसका मतलब है कि यह अधिक लोगों को प्रभावित कर सकता है । लेकिन इसके गंभीर लक्षण, अस्पताल में भर्ती या मौत के मामले कम आने की संभावना है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Coronavirus: स्वास्थ्य मंत्रालय इन 6 राज्यों में कोविड स्थिति पर चिंतित, यहां तेजी से फैल रहा संक्रमणकेरल में तेजी से बढ़ रहा ओमिक्रॉन, 24 घंटे में 20% बढ़ी ऑक्‍सीजन बेड की मांग50 साल से जल रही ‘अमर जवान ज्योति’ आज से इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगीबीजेपी सांसद ने कहा 'शराब औषधि समान, कम पीने से करती है औषधि का काम'अखिलेश यादव के कई राज सिद्धार्थनाथ सिंह ने खोले, सुन कर चौंक जाएंगेयूपी विधानसभा चुनाव 2022 के दूसरे चरण की 55 विधानसभा सीटों के लिए आज से होगा नामांकनWeather Forecast News Today Live Updates: दिल्ली सहित कई राज्यों में 3 दिन बारिश का अलर्ट, उत्तर भारत में पड़ेगी कड़ाके की ठंडलोकसभा अध्यक्ष बनने के बाद क्या बदला जीवन, जानिए स्पीकर ओम बिरला का रोचक जवाब
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.