scriptwhat are the eating disorders know its signs and symptoms | ईटिंग डिसऑर्डर का कहीं आप भी तो नहीं हो गए हैं शिकार? जानिए इन लक्षणों के बारे में | Patrika News

ईटिंग डिसऑर्डर का कहीं आप भी तो नहीं हो गए हैं शिकार? जानिए इन लक्षणों के बारे में

ईटिंग डिसऑर्डर की बात करें तो इसके होने पर व्यक्ति जरूरत से ज्यादा खाना खाता है,ऐसे में व्यक्ति का वेट बढ़ना शुरू हो जाता है,इससे न केवल आपके शरीर के ऊपर बुरा प्रभाव पड़ता है वहीं पेट की सेहत के ऊपर भी बुरा प्रभाव पड़ता है।

नई दिल्ली

Published: January 14, 2022 12:43:49 pm

ईटिंग डिसऑर्डर की हैबिट की बात करें तो ये बिल्कुल भी अच्छी आदत नहीं होती है,इसके होने पर व्यक्ति जरूरत से ज्यादा खाना शुरू कर देता है, ईटिंग डिसऑर्डर करने से शरीर में कैलोरी की मात्रा बढ़ने लग जाती है,खाना सेहत को स्वस्थ बना के रखने का काम करता है लेकिन यदि ये ज्यादा मात्रा में हो जाए तो ये नुकसान भी पंहुचा सकता है। ज्यादा खाने के सेवन से न केवल व्यक्ति का वजन बढ़ना शुरू हो जाता है वहीं व्यक्ति आलस में भी रहता है,इसलिए आपको भी जानना चाहिए कि यदि आप ओवरईटिंग करते हैं तो इसके कौन से लक्षण नजर आ सकते है।
ईटिंग डिसऑर्डर का कहीं आप भी तो नहीं हो गए हैं शिकार? जानिए  इन लक्षणों के बारे में
health tips
ईटिंग डिसऑर्डर के क्या कारण हो सकते हैं
ईटिंग डिसऑर्डर के कारण की बात करें तो इसका अभी तक पता नहीं चल पाया है, लेकिन माना जाता है कि इसके पीछे का कारण ज्यादा स्ट्रेस लेना या वातावरण में आए हुए बदलावों के कारण भी हो सकते हैं,वहीं ईटिंग डिसऑर्डर से पुरषों के मुकाबले महिलाओं को अधिक होती है, इसके होने पर या तो व्यक्ति बहुत ही ज्यादा खाता है या बहुत ही कम।
जानिए एनोरेक्सिया नर्वोसा के लक्ष्णों के बारे में-
एनोरेक्सिया नर्वोसा के लक्ष्णों की बात करें तो इसके होने पर व्यक्ति को इस बात का डर रहता है कि कहीं उसका वजन बहुत ही ज्यादा तेजी से तो नहीं बढ़ रहा है, इस डर के कारण व्यक्ति खाना का सेवन कम करता है या न के बराबर करता है, उसको कमजोरी आ जाती है और वहीं इसका असर व्यक्ति के इम्यून सिस्टम के ऊपर भी पड़ता है।
ईटिंग डिसऑर्डर से बचाव
-यदि आपको लगता है कि आप भी ओवरईटिंग कर रहे हैं तो ऐसे आप खाने को रूटीन के हिसाब से ही खाएं,जैसे कि ब्रेकफास्ट,लंच हो या डिनर तीनों को टाइम से ही करें।
-जितना भूख लगे उतना ही खाएं,ज्यादा खाने या कम खाने के सेवन को अवॉयड करें,यदि ऐसा आप करते हैं तो आपकी डाइट नहीं बढ़ेगी और आप स्वस्थ रहेंगें ।
-ज्यादा तेल-मसाले युक्त खाने से बचें कोशिश करें कि उतना ही मसाला डालें जितना खाने में जरूरत हो ताकि स्वाद के चक्कर में आप खाना ज्यादा भी न खा पाए और आपके बॉडी को भी न कोई नुकसान पहुंचे।
-कोशिश करें कि बाहर का खाना ज्यादा न खाएं हमेसा कुछ न कुछ हेल्दी ही खाएं।
-रोजाना हरी सब्जियों का और फलों का भरपूर मात्रा में सेवन करें,ताकि आपके पेट से जुड़ी कई बीमारियां भी दूर रहें और पेट की सेहत भी दुरुस्त रहे,और वहीं आपका पेट भी इनसे लंबे समय तक भरा हुआ रहता है और आपको बार-बार खाने कि भी क्रेविंग नहीं होती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.