जानिए डॉक्टर 10 हजार कदम चलने के लिए क्यों कहते हैं?

जानिए डॉक्टर 10 हजार कदम चलने के लिए क्यों कहते हैं?

Ramesh Kumar Singh | Updated: 11 Apr 2019, 06:00:00 AM (IST) सेहत के सवाल जवाब

शारीरिक निष्क्रियता बीमारियों की बड़ी वजह है। लगातार ज्यादा देर तक न बैठें। शरीर में कैलोरी खर्च करने की क्षमता घटती है। हर घंटे पांच मिनट का ब्रेक लें। स्ट्रेच आउट करें और टहलें। काम के तनाव में सिगरेट और अल्कोहल की लत से ब्लड पे्रशर बढ़ता है जो हार्ट अटैक कारण बनता है। बीमारियों से बचने के लिए खानपान व जीवनशैली में क्या परिवर्तन करें; इन्हीं सब सवालों के जवाब पूर्व आईएमए अध्यक्ष नई दिल्ली डॉ. के.के. अग्रवाल ने दिए उनसे बातचीत के प्रमुख अंश-

प्रश्न : सेहतमंद रहने का फार्मूला क्या है?
कमर का घेरा 80 सेमी. हो, एक मिनट में 80 कदम चलें। 80 ग्राम साबुत अनाज खाएं। साल में 80 दिन व्रत रखें। 80 दिन पैदल, 80 दिन जॉगिंग, 80 दिन दौड़ें, 80 दिन योग-प्राणायाम करें। चिकित्सक की परामर्श जरूर लें।
प्रश्न : स्वस्थ हृदय के लिए युवा क्या करें?
किशोरावस्था से ही रात 10 से पहले सोने की आदत डालें। सूर्योदय से पहले बिस्तर छोड़ दें। 60 मिनट व्यायाम करें। धूम्रपान व तम्बाकू लेने से बचें। देर रात कैफीयुक्त चीजें, मोबाइल-टीवी न देखें।

प्रश्न : डॉक्टर हृदय को स्वस्थ रखने के लिए 10 हजार कदम चलने के लिए क्यों कहते हैं?
10 हजार कदम चलने से हृदय का पूरा व्यायाम हो जाता है। यदि आप छह मिनट में 1500 कदम चलते हैं तो हृदय की बीमारी नहीं है। यदि 600 कदम से कम है तो चिकित्सक से परामर्श लें।

प्रश्न : व्यायाम करने का सबसे ज्यादा फायदा कब मिलता है?
यदि सुबह जल्दी उठकर व्यायाम नहीं कर सकते हैं तो परेशान न हों। ऑस्ट्रेलिया में एक अध्ययन पाया गया कि शाम के समय व्यायाम करने से नींद (स्लीप साइकिल) पर कोई असर नहीं पड़ता है। इसके अलावा शाम के समय स्नैक्स लेने की तीव्र इच्छा (क्रेविंग) भी घटती है।
प्रश्न : व्यायाम का सबसे ज्यादा पफायदा कब मिलता है?

किस समय व्यायाम करने का सबसे ज्यादा फायदा मिलता है? विशेषज्ञ कहते हैं कि सुबह व्यायाम से सबसे ज्यादा फायदा मिलता है। मांसपेशियों की मजबूती बढ़ती है व अच्छी नींद भी आती है। रात में सोने से तीन घंटे पहले व्यायाम कर लेना चाहिए। व्यायाम से पहले ऊर्जा के लिए कार्बोहाइड्रेट युक्त व बाद में प्रोटीन युक्त चीजें लें।
प्रश्न : पेट की चर्बी से क्या दिक्कतें होती हैं!

पेट पर फैट जमने से कोलेस्ट्रोल, हृदय, टाइप-2 डायबिटीज की आशंका तेजी से बढ़ती है। इसे कम करने के लिए खानपान में नियंत्रित कैलोरी का आहार लें। प्रोटीन व फाइबर की मात्रा भी बढ़ाएं। नियमित व्यायाम करें। पानी खूब पीएं।

- डॉ. के.के. अग्रवाल, पूर्व अध्यक्ष, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, नई दिल्ली

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned