सीबीआई ने हरियाणा को तोड़ा और आप जोड़ेगी: जयहिंद

हरियाणा की राजनीति में अपने पांव मजबूत करने में जुटी आम आदमी पार्टी ने हरियाणा जोड़ो अभियान के माध्यम से प्रदेश वासियों को साधने का ऐलान किया है।

By: शंकर शर्मा

Published: 04 Jun 2018, 10:48 PM IST

चंडीगढ़। हरियाणा की राजनीति में अपने पांव मजबूत करने में जुटी आम आदमी पार्टी ने हरियाणा जोड़ो अभियान के माध्यम से प्रदेश वासियों को साधने का ऐलान किया है। जिसके चलते पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष नवीन जयहिंद ने सोमवार से प्रदेशव्यापी अभियान कालका से शुरू किया।


हरियाणा में एक नंबर विधानसभा क्षेत्र के रूप में चिन्हित कालका से यह अभियान शुरू करने के बाद चंडीगढ़ में पत्रकारों से बातचीत करते हुए नवीन जयहिंद ने कहा कि पिछले तीन वर्षों के भीतर भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश वासियों को जातिवाद के नाम पर बांटने का काम किया है।


जयहिंद ने कहा कि भाजपा के साथ इस साजिश में विपक्षी दल इनेलो और कांग्रेस भी शामिल हैं। यही नहीं, आप ने इन तीनों ही राजनीतिक दलों को ‘सीबीआई’ की संज्ञा दी है। जयङ्क्षहद ने आशंका जताई कि लोकसभा एवं विधानसभा चुनावों को नजदीक देख भाजपा फिर से लोगों को आपस में लड़वाने की साजिश कर सकती है। साथ ही, उन्होंने प्रदेश की सभी दसों लोकसभा सीटों पर चुनाव लडऩे का भी ऐलान कर दिया है।


आप का हरियाणा जोड़ो अभियान अगले सप्ताह से शुरू होगा और प्रदेश के सभी नब्बे हलकों तक इसे पहुंचाया जाएगा। इसके लिए पार्टी के 2000 सक्रिय पदाधिकारियों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। 26 मई को दिल्ली के सीएम एवं आप सुप्रीमो अरङ्क्षवद केजरीवाल इस संदर्भ में पार्टी पदाधिकारियों की कुरुक्षेत्र में बैठक ले चुके हैं। जयङ्क्षहद ने कहा कि इस अभियान के दौरान प्रदेशभर में एक लाख सक्रिय वर्करों को पार्टी के साथ जोड़ा जाएगा।


आप प्रदेशाध्यक्ष के अनुसार दिल्ली मॉडल को हरियाणा में लागू किया जाएगा और इसी मॉडल पर हरियाणा विधानसभा का चुनाव आम आदमी पार्टी लड़ेगी। नई दिल्ली में कांग्रेस के साथ गठबंधन की संभावनाओं को सिरे से नकारते हुए जयहिंद ने कहा, दिल्ली में कांग्रेस का खाता पूरी तरह से बंद हो चुका है। आप का गठबंधन केवल आम आदमी से है और आगे भी रहेगा। जयङ्क्षहद ने कहा कि भाजपा ने सत्ता में आने के लिए लोगों को बड़े-बड़े वादे किए थे।

साढ़े तीन वर्ष से अधिक का कार्यकाल पूरा हो चुका है, लेकिन आज तक एक भी वादा पूरा नहीं किया गया। आप इन मुद्दों को लेकर लोगों के बीच जाएगी और सरकार से जवाब मांगा जाएगा। दलितों का उत्पीडऩ इतना बढ़ गया है कि जींद में 100 से अधिक दलित परिवारों ने अपना धर्म ही बदल लिया।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned