सरकार तुरंत गिरदावरी करवा तीस हजार रुपए प्रति एकड़ से दे मुआवजा : हुड्डा

सरकार तुरंत गिरदावरी करवा तीस हजार रुपए प्रति एकड़ से दे मुआवजा : हुड्डा

Shankar Sharma | Publish: Oct, 13 2018 11:07:41 PM (IST) Hisar, Haryana, India

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने सरकार से बेमौसमी बारिश व ओलावृष्टि से हुए नुकसान की विशेष गिरदावरी करवाकर प्रभावित किसानों को तीस हजार रुपए प्रति एकड़ की दर से मुआवजा प्रदान करने की मांग की है।

चंडीगढ़। हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने सरकार से बेमौसमी बारिश व ओलावृष्टि से हुए नुकसान की विशेष गिरदावरी करवाकर प्रभावित किसानों को तीस हजार रुपए प्रति एकड़ की दर से मुआवजा प्रदान करने की मांग की है। हुड्डा शनिवार को चंडीगढ़ निवास स्थान पर अंबाला से आए किसानों से की समस्याएं सुन रहे थे।


अंबाला एवं अन्य जिलों में किसानों की बर्बाद हुई फसल, बारिश के कारण उत्पन्न बाढ़ जैसी स्थिति और खेतों में जलभराव की वजह से किसानों के ऊपर संकट के बादल छा गए हैं। हुड्डा ने कहा कि सरकार बिना देरी और भेदभाव के विशेष गिरदावरी के आदेश दे तथा किसानों को हुए नुकसान की भरपाई करे। हुड्डा ने किसानों का दर्द सांझा करते हुए कहा कि आने वाले समय में हरियाणा में कांग्रेस की सरकार बनेगी और पहले की तरह किसानों का कर्जा माफ करने के साथ-साथ उनके हित में कई कदम उठाए जाएंगे।

उन्होंने सरकार से तुरंत गिरदावरी करवाकर कम से कम 20 हजार 000 रुपये प्रति एकड़ अंतरिम और नुकसान के अनुसार 30 हजार रुपये प्रति एकड़ तक निर्धारित कर किसानों को राहत दी जाए। सर कार को नहीं मालूम कि बाजरे और धान की न्यून तम सम र्थन मूल्य से कम दा मों पर खरी द हो रही है। हुड्डा ने कहा कि किसानों को हुए नुक सान के मद्देनजर सर कार तुरन्त धा न व कपास की खरीद न्यूनतम समर्थन मूल्य पर करना सुनि श्चित करे। कांग्रेस पार्टी किसानों की अनदेखी सहन नहीं करेगी।


हुड्डा ने सरकार पर कड़ा हमला करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के नाम पर कि सानों के खातों से जबरन पैसा काट कर भाजपा सरकार ने बिना बोली लगाये बीमा कंपनियों की तिजोरियां में 23 ह जार करोड़ रूपया भरने का काम किया है और बीमा कंपनियों के दबाव में स्पेशल गिरदावरी के आदेश नहीं दिये जा रहे हैं।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned