सीबीआई की कार्रवाई से गरमाएगी हरियाणा की राजनीति

सीबीआई की कार्रवाई से गरमाएगी हरियाणा की राजनीति

Shankar Sharma | Publish: Feb, 03 2018 11:13:21 PM (IST) Hisar, Haryana, India

सीबीआई द्वारा मानेसर जमीन घोटाले में चार्जशीट दायर किए जाने के बाद हरियाणा की राजनीति गरमा गई है

चंडीगढ़। सीबीआई द्वारा मानेसर जमीन घोटाले में चार्जशीट दायर किए जाने के बाद हरियाणा की राजनीति गरमा गई है। लंबे समय से कांग्रेस पार्टी में गुटबाजी को हवा दे रहे पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा हरियाणा में रथ यात्रा निकालने की तैयारी में जुटे हुए हैं। ऐसे में सीबीआई द्वारा उनके विरूद्ध चार्जशीट दायर किए जाने के बाद सत्तारूढ़ सरकार तथा विपक्ष द्वारा फील्ड में जहां हुड्डा से जवाब मांगा जाएगा वहीं कांग्रेस में भी हुड्डा विरोधी उनके खिलाफ सक्रिय होंगे।


हुड्डा के खिलाफ चार्जशीट ठीक उस समय दाखिल हुई है जब प्रदेश धीरे-धीरे चुनावी माहौल में रम रहा है। हुड्डा पहले ही प्रदेशभर में रथयात्रा निकालने का ऐलान कर चुके हैं और पिछले काफी समय से अपनी किसान व मजदूर पंचायतों, व्यापारियों के साथ बैठकों आदि में सक्रिय हैं।


अब वह निश्चित तौर पर इसका सियासी फायदा उठाने का प्रयास करेंगे। हुड्डा शुरुआत से राज्य की बीजेपी सरकार के खिलाफ मुखर अंदाज अपनाए हुए हैं और उनके साथ पार्टी विधायकों की अच्छी खासी फौज है जबकि पार्टी हाईकमान भी उनके संकट में घिरे होने के दौरान अलग-अलग तरीकों से मदद को आगे आता दिखाई देते रहा है।

मिसाल के तौर पर जब सरकार ने पिछली सरकार के दौरान जमीन सौंदों और कमर्शियल लाइसेंस दिए जाने के मामलों की पड़ताल के लिए पूर्व जस्टिस एसएन ढींगरा कमीशन बनाया तो जहां हुड्डा ने इसके गठन को हाईकोर्ट में चुनौती दी वहीं वरिष्ठ कांग्रेसी नेता कपिल सिब्बल खुद इस मामले में हुड्डा की तरफ से पैरवी करने के लिए हाईकोर्ट में खड़े नजर आए। इसी तरह राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट को आंखों का अस्पताल बनाने के मामले में चल रहे मामले में वरिष्ठ कांग्रेसी नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला कोर्ट में पैरवी करते हुए नजर आते हैं।


इसी दौरान बदले हुए राजनीतिक हालातों में हुड्डा समर्थक एवं विधानसभा के पूर्व स्पीकर कुलदीप शर्मा उनके समर्थन में खुलकर आ गए हैं। कुलदीप शर्मा ने सीबीआई द्वारा कोर्ट में चार्जशीट सौंपे जाने पर अपनी टिप्पणी में कहा कि हरियाणा सरकार लंबे समय से जमीन से जुड़े लोकप्रिय नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा को फंसाने की साजिश रच रही थी और सीबीआई को एक हथियार के रूप में इस्तेमाल किया। उन्होंने कहा कि वह पेशे से वकील हैं और इस चार्जशीट में कोई दम नहीं है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned