डेरा मुखी पर फैसले से पहले बढ़ी सक्रियता

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के खिलाफ साध्वी यौन शोषण मामले में सीबीआई अदालत के फैसले से पहले हरियाणा सरकार पूरी तरह सक्रिय हो गई है

By: शंकर शर्मा

Published: 18 Aug 2017, 10:11 PM IST

 चंडीगढ़। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के खिलाफ साध्वी यौन शोषण मामले में सीबीआई अदालत के फैसले से पहले हरियाणा सरकार पूरी तरह सक्रिय हो गई है। केंद्र सरकार ने हरियाणा की मांग को स्वीकार करते हुए जहां पैरा मिल्ट्री की ३५ कंपनियों को हरियाणा के लिए रवाना कर दिया है वहीं आज दिनभर प्रदेश के कई जिलों की पुलिस लाइन में पुलिस कर्मियों को आपात स्थिति से निपटने का प्रशिक्षण दिया गया और पुलिस ने अपने दंगा रोधक वाहनों की जांच भी की।


डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के विरूद्ध पंचकूला की सीबीआई कोर्ट साध्वी यौन शोषण का मामला चल रहा है। बृहस्पतिवार को इस मामले में दोनों पक्षों के वकीलों की जिरह पूरी हो चुकी है और फैसला २५ अगस्त के लिए आरक्षित रखा जा चुका है। अदालत ने डेरा मुखी को निजी तौर पर पेश होने के निर्देश जारी किए हैं। डेरा मुखी का अगला कदम क्या होगा, यह अभी किसी को नहीं पता है।


इस बीच हरियाणा सरकार ने कई अहतियाती कदम उठा लिए हैं। हरियाणा की मांग को गंभीरता से लेते हुए केंद्र सरकार ने पैरा मिल्ट्री की ३५ कंपनियां हरियाणा के लिए स्वीकृत कर दी हैं। यह कंपनियां शनिवार की सुबह तक हरियाणा पहुंच जाएंगी। हालांकि हरियाणा ने केंद्र से १५० कंपनियों की मांग की थी।


डेरा मुखी की पेशी को देखते हुए हरियाणा पुलिस ने पंचकूला, सिरसा, अंबाला, कुरूक्षेत्र, करनाल, कैथल, हिसार, फतेहाबाद और जींद जिलों को संवेदनशील घोषित किया है। इन जिलों में शनिवार से ही पैरा मिल्ट्री फोर्स तथा हरियाणा पुलिस के अतिरिक्त जवानों को तैनात कर दिया जाएगा। पुलिस को सूचना मिली है कि डेरा मुखी की पेशी को देखते हुए हरियाणा के अलावा राजस्थान, महाराष्ट्र तथा पंजाब से भी डेरा अनुयायी हरियाणा में जमा हो सकते हैं।


जिसके चलते शनिवार से ही पंजाब व राजस्थान की सीमाओं को सील करते हुए बाहर से आने संदिगधों पर नजर रखी जाएगी। राजस्थान तथा पंजाब से सटे हरियाणा के जिलों में तैनात पुलिस अधिकारियों को संदेह के आधार पर लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ करने के अधिकार दे दिए गए हैं। दूसरी तरफ किसी प्रकार की अप्रिय घटना तथा आपात स्थिति से निपटने के लिए हरियाणा के सिरसा,फतेहाबाद, हिसार आदि जिलों में आज पुलिस के जवानों को विशेष प्रशिक्षण दिया गया है। पुलिस लाइनों में खड़े दंगा रोधक वाहनों, वज्र वाहनों तथा अन्य पुलिस वाहनों का भी निरीक्षण किया गया।


केंद्र सरकार द्वारा पैरा मिल्ट्री की कंपनियों को भेजने का काम शुक्रवार रात से शुरू हो चुका है। उन्हें संवेदनशील जिलों के पुलिस अधीक्षकों के साथ तालमेल के बाद तैनात किया जाएगा। इसके अलावा राज्य पुलिस के जवानों को भी ट्रेंड किया जा रहा है। हरियाणा पुलिस किसी प्रकार की आपात स्थिति से निपटने के लिए तैयार है। किसी भी व्यक्ति को कानून अपने हाथ में लेने की इजाजत नहीं दी जाएगी।
बी.एस. संधू,पुलिस महानिदेशक, हरियाणा।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned