अब रूठे खिलाडिय़ों को मनाएंगे अशोक खेमका

खेल नीति और खिलाड़ी हरियाणा सरकार के गले की फांस बन गए हैं।

By: शंकर शर्मा

Published: 24 May 2018, 10:54 PM IST

चंडीगढ़। खेल नीति और खिलाड़ी हरियाणा सरकार के गले की फांस बन गए हैं। प्रदेश सरकार द्वारा राष्ट्रमंडल खेलों के खिलाडिय़ों को सम्मानित किए जाने का मुद्दा लगातार गहराता जा रहा है। खिलाडिय़ों को सम्मानित किए जाने के प्रकरण पर अब प्रदेश सरकार नरम पड़ गई है। सरकार की तरफ से नाराज खिलाडिय़ों को मनाने की कवायद तेज हो चुकी है। नाराज खिलाडिय़ों को राजी करने की जिम्मेदारी खेलकूद विभाग के निदेशक तथा प्रधान सचिव को सौंपी गई है।


खेल नीति में केवल उन्हीं खिलाडिय़ों को नगद पुरस्कार दिए जाने का प्रावधान है, जिन्होंने हरियाणा का प्रतिनिधित्व किया हो। ऐसे में राष्ट्रमंडल खेलों के 22 पदक विजेता खिलाडिय़ों में से केवल 9 को ही नकद इनाम मिल सकता था, लेकिन सरकार ने नियमों में छूट देते हुए सभी को सम्मानित करने का फैसला तो लिया लेकिन उसमें यह शर्त लगा दी कि उन्हें पूरी इनाम राशि की बजाय उनके मूल विभाग से मिलने वाली राशि से कटौती करके दी जाएगी। इसी शर्त पर विवाद खड़ा हो गया है और सम्मानित होने वाले कई खिलाडिय़ों ने सम्मान समारोह का बहिष्कार कर दिया। जिसके चलते सरकार को ऐन मौके पर सम्मान समारोह रद्द करना पड़ गया।


पिछले लगभग एक महीने से इस मुद्दे पर जमकर राजनीति हो रही है और सरकार भी आए दिन अपने फैसले बदल रही है। अब एक बार फिर सरकार कटौती के साथ सभी खिलाडिय़ों को सम्मानित करने पर राजी हो गई है। सूत्रों के अनुसार सरकार ने रूठे हुए खिलाडिय़ों को मनाने का जिम्मा खेल विभाग के निदेशक तथा प्रधान सचिव को सौंपा गया है। यह दोनों आईएएस अधिकारी व्यक्तिगत तौर पर सभी खिलाडिय़ों से बातचीत करेंगे।


दोनों अधिकारियों को कहा गया है कि वह रेलवे, आर्मी और दूसरे विभागों का प्रतिनिधित्व करने वाले खिलाडिय़ों को कटौती के साथ इनाम राशि लेने के लिए राजी करें। दरअसल, राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक विजेता को रेलवे की ओर से 5 लाख रुपए का इनाम दिया जाता था, जिसे अब बढ़ाकर 25 लाख रुपए किया गया है। ऐसे में हरियाणा के उन स्वर्ण पदक विजेताओं को डेढ़ करोड़ की बजाय सवा करोड़ रुपए का इनाम मिलेगा, जो रेलवे की ओर से खेले थे।

क्या कहती है हरियाणा की नीति
प्रदेश की खेल नीति के तहत राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक हासिल करने वाले खिलाडिय़ों को डेढ़ करोड़, रजत पदक विजेता को 75 लाख और कांस्य पदक विजेता को 50 लाख रुपए का इनाम दिए जाने का प्रावधान है। इन खेलों के प्रतिभागी खिलाडिय़ों को साढ़े 7-7 लाख रुपए दिए जाने का प्रावधान है।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned