हरियाणा में सफाई कर्मचारियों की हड़ताल समाप्त

हरियाणा में दो सप्ताह से चल रही सफाई कर्मचारियों की हड़ताल समाप्त हो गई है।

By: शंकर शर्मा

Published: 24 May 2018, 10:59 PM IST

चंडीगढ़। हरियाणा में दो सप्ताह से चल रही सफाई कर्मचारियों की हड़ताल समाप्त हो गई है। सफाई कर्मचारियों को कई कर्मचारी यूनियनों तथा विपक्ष का समर्थन मिलने के बाद हरियाणा सरकार बैकफुट पर आ गई और कच्चे कर्मचारियों का पक्का करने के लिए एक कमेटी का गठन कर दिया। सरकार ने कर्मचारियों की सभी मांगों को स्वीकार कर लिया है। जिसके बाद कर्मचारियों ने हड़ताल समाप्त करने का ऐलान कर दिया है।


शुक्रवार से हरियाणा के शहरों व कस्बों में सफाई कर्मचारी फिर से काम पर लौट आएंगे और सोमवार तक समूचे प्रदेश की सफाई व्यवस्था सामान्य हो जाएगी। हरियाणा में करीब 30 हजार नगर पालिका सफाई कर्मचारी बीती नौ मई से हड़ताल पर चल रहे हैं। कर्मचारियों की मांग है सभी पालिकाओं में ठेकेदारी प्रथा बंद करते हुए उन्हें नियमित किया जाए तो उनके सभी तरह के वेतन एवं भत्तों में वृद्धि की जाए। हालांकि इससे पहले सफाई कर्मचारियों की स्थानीय निकाय मंत्री तथा मुख्यमंत्री के साथ दो बार बैठक हो चुकी थी लेकिन कई मुद्दों पर सहमति नहीं बन सकी थी। जिसके चलते प्रदेश की सफाई व्यवस्था बुरी तरह से चरमरा चुकी थी।


गत दिवस मंत्री समूह की बैठक में इस विवाद को सुलझाने के लिए मुख्यमंत्री ने शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन की अध्यक्षता में कमेटी का गठन किया था। जिसमें सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर, समाज कल्याण मंत्री कृष्ण बेदी, सीएम के प्रधान सचिव राजेश खुल्लर और निकाय विभाग के प्रधान सचिव आनंद मोहन शरण को शामिल किया गया है।


पालिका कर्मचारी कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने तथा ‘समान काम-समान वेतन’ सहित दर्जनभर मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं। समान काम-समान वेतन के मुद्दे पर मुख्य सचिव डीएस ढेसी की अध्यक्षता में कमेटी बनाई थी। ढेसी कमेटी ने बुधवार को सीएम को अपनी रिपोर्ट भी सौंप दी है।


इसी दौरान आज हरियाणा निवास में हुई बैठक में सफाई कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष नरेश शास्त्री, सर्वकर्मचारी संघ के नेताओं ने बैठक में भाग लिया। करीब चार घंटे तक चली इस बैठक में सरकार ने सफाई कर्मचारियों को नियमित करने की मांग स्वीकार कर ली। इसके लिए उच्च स्तरीय अधिकारियों की कमेटी का भी गठन कर दिया गया है। आज की बैठक में कर्मचारियों का वेतन बढ़ाने पर भी सहमति बन गई है। अब हरियाणा में सफाई कर्मचारियों का वेतन 13 हजार 500 रुपए होगा।


बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में शहरी निकाय मंत्री कविता जैन ने बताया कि हरियाणा ने सबसे पहले पालिकाओं में सबसे पहले सातवें वेतन आयोग का लाभ दिया। पालिका में समान काम समान वेतन देंगे, जो कर्मचारी मानता है कि जो कर्मचारी इसका लाभ ले सकता है, उसके लिए शहरी निकाय विभाग वेब पोर्टल एप बनाएंगे, जिसमें वह आवेदन कर सकेंगे। इसे पालिका अधिकारियों के कमेंट के साथ दो महीने में क्लियर करेंगे।


पालिकाओं में जारी ठेके खत्म किये जाएंगे तथा इनमें कार्यरत सफाई, सीवर कर्मचारियों को पालिका रोल पर रखा जाएगा। पालिकाओं में फायर सर्विस में लगे कर्मचारियों को लाभ देने के लिए भर्ती का पुन:विज्ञापन संशोधित शर्तों के साथ जारी किया जाए। तय कंडीशन पूरी करने के लिए उन्हें समय दिया जाएगा और उन्हें हटाया नहीं जाएगा। पालिका कर्मचारियों के पीएफ, ईएसआई का लाभ दिया जाएगा। कर्मचारियों को पक्का करने के लिए नीति तैयार की जाएगी, जिसके लिए कमेटी का गठन किया जाएगा।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned