महिला कांग्रेस महिलाओं के अधिकार के लिए उतरेगी सडक़ों पर

महिला कांग्रेस महिलाओं के अधिकार के लिए उतरेगी सडक़ों पर

Shankar Sharma | Publish: Sep, 06 2018 11:32:13 PM (IST) Hisar, Haryana, India

हरियाणा प्रदेश महिला कांग्रेस ने ऐलान किया है कि आगामी 30 सितंबर से महिलाओं के अधिकारों की लड़ाई हरियाणा की सडक़ों पर लड़ी जाएगी।

चंडीगढ़। हरियाणा प्रदेश महिला कांग्रेस ने ऐलान किया है कि आगामी 30 सितंबर से महिलाओं के अधिकारों की लड़ाई हरियाणा की सडक़ों पर लड़ी जाएगी। महिला कांग्रेस प्रदेश के सभी 22 जिलों में महिला अधिकार यात्रा को लेकर चलेगी। महिला अधिकार यात्रा में महिलाओं से जुड़े हुए सभी मुद्दे प्रमुखता से उठाए जाएंगे।


महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुमित्रा चौहान, मीडिया इंचार्ज और प्रवक्ता रंजीता मेहता, प्रशासनिक प्रभारी नीना राठी, अंबाला जोन की कोऑर्डिनेटर बिमला सरोहा हिसार जोन की कोऑर्डिनेटर और प्रवक्ता वंदना पोपली उपाध्यक्ष अनीता नैन, एनजीओ सेल इंचार्ज सुनीता, प्रियदर्शनी इंचार्ज पूनम चौहान, पंचायती राज सेल्स इंचार्ज मंजू, सीनियर वाइस प्रेसिडेंट सुषमा खन्ना सोनीपत जिला अध्यक्ष राजेश चौधरी ने आज यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि 30 सितंबर को पंचकूला में एक विशाल महिला सम्मेलन से इस अधिकार यात्रा की शुरुआत की जाएगी जोकि यमुनानगर अंबाला से होते हुए कुरुक्षेत्र के पवित्र कुंड की मशाल परिक्रमा की जाएगी। वहां से यात्रा सीएम सिटी करनाल पहुंचेगी।


एक अक्तूबर को करनाल से आगे चलकर यात्रा पानीपत पहुंचेगी जहां से देश के प्रधानमंत्री ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का आगाज किया था वह नारा आज बदल गया है कहीं न कहीं इसका मतलब भाजपा से बेटी बचाओ बनकर रह गया है। सोनीपत, रोहतक और जींद होते हुए महिला अधिकार यात्रा दो तारीख को जींद में पहुंचेगी जहां पर महिला खाप पंचायत का आयोजन किया जाएगा खाप पंचायत हमारी संस्कृति है और किस तरह से खाप पंचायत जागृति लाने का काम कर सकती है। यह दर्शाने का काम महिला कांग्रेस करेगी। जींद के बाद कैथल सिरसा फतेहाबाद होते हुए तीन अक्तूबर को यात्रा हिसार में पहुंचेगी। हिसार, भिवानी, दादरी, महेंद्रगढ़ में महिला चौपाल का आयोजन किया जाएगा।


महिला अधिकार यात्रा की पांचवें दिन की शुरुआत चार तारीख को रेवाड़ी में एक महिला सम्मेलन से शुरू होगी उसके बाद झज्जर होते हुए नुहं में मुस्लिम महिला पंचायत का आयोजन किया जायेगा। इस पंचायत में मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों की बात की जाएगी तथा उनकी समस्याओं को उठाया जाएगा इसके बाद आखिरी दिन का आगाज पलवल, फरीदाबाद से होते हुए गुडग़ांव में कैंडल मार्च से किया जाएगा। इसके बाद यात्रा दिल्ली की तरफ बढ़ेगी तथा मशाल दिल्ली की प्रदेशाध्यक्ष शर्मिष्ठा मुखर्जी को सौंपी जाएगी।

Ad Block is Banned