ऎसा इंटीरियर डिजाइन कर रखे अपने घर को कूल!

इंटीरियर के जरिए आप बड़ी आसानी से अपने घर को हवादार, खुला-खुला और कूल बना सकते हैं।

जयपुर। भूमि खरीदने के बाद सबसे बड़ी समस्या होती हैं घर का इंटीरियर डिजाइन कैसा हो। घर तैयार होने के बाद घर की सजावट अपने आप में एक विशेष महत्व रखती है। माना आपको गर्मी का मौसम पसंद नहीं। लेकिन प्रकृति के नियम में परिवर्तन या हेर-फेर की कोई गुंजाइश नहीं। इस जलती-चुभती गर्मी में घर का कूल इंटीरियर घर को हवादार, खुला-खुला बनाने में सक्षम है। इसके लिए जरूरत है-

झीने-झीने पर्दे
इस मौसम में हल्के रंग के पर्दे मुफीद रहते हैं। अगर आपकी खिड़की से सीधी धूप आती है तो दो तरह के परदे लगाएं। खिड़की के पास नेट के हल्के रंग के पर्दे और उसके ऊपर मोटे कपड़े वाले पर्दे जो धूप को रोक सकें लगाएं। नेट वाले परदों से आप सुबह की गुनगुनी धूप का मजा ले सकती हैं और जब दिन चढ़ने लगे और धूप कमरे में आने लगे तब उसके ऊपर दूसरा पर्दा डाल दें।

इंटीरियर में फेरबदल
घर को खुला-खुला और हवादार बनाने में आपके घर का इंटीरियर अहम भूमिका निभाता है। अगर आपका ड्राइंग रूम छोटा है तो आप ऎसे सोफा सेट का चुनाव करें, जो कम जगह घेरता हो। साथ ही देखने में भारी भरकम न लगे। अगर सेंटर टेबल बड़ी है तो कमरा बहुत तंग, छोटा लगेगा। ड्राइंग रूम की सजावट बहुत हैवी न करें, वरना कमरा और भी छोटा लगेगा और वेंटिलेशन न हो पाने से कमरे में घुटन का अहसास होगा। अगर आप सोफा कवर्स इस्तेमाल करती हैं तो गर्मियों के मौसम के अनुरूप पतले और हल्के रंग के कवर्स प्रयोग में लाएं। बदलाव के लिए फ्लोरल प्रिंट वाले कवर भी फ्रेशनेस का अहसास कराते हैं।

एक जरूरी बात। खिड़की और सोफा के बीच में कोई सामान न रखा हो, ताकि हवा के रास्ते में कोई रूकावट न आए। साथ ही जब भी आप खिड़की खोलें तो हवा के वेंटिलेशन में कोई समस्या न हो। खिड़की के आस-पास ताजे फूल सजाएं। ताजे फूलों से कमरे में ताजगी बनी रहेगी। जब भी खिड़की से हवा आएगी,फूलों की खुशबू से कमरा महक उठेगा।

शीशे की झलक-पलक
आजकल ऎसे शीशे भी बाजार में उपलब्ध हैं जो सूरज की किरणों को अंदर भेजते हैं और हानिकारक अल्ट्रा वायलेट किरणों और इंफ्रारेड किरणों को रोक लेते हैं। यूरोप और अमेरिका में ऎसे शीशे बेहद लोकप्रिय हैं। अगर ये शीशे आपके बजट को गड़बड़ाते नहीं, तो खिड़कियों में ऎसे शीशे लगवाएं।

दीवारों पर रंगों की पिचकारी
दीवारों को पुतवाने का सोच रही हैं, तो हर दीवार के लिए नए-नए रंगों का चुनाव कर सकती हैं। कुछ ब्राइट कलर्स फ्रेश लुक भी देते हैं। वहीं दीवारों पर सॉफ्ट और ब्राइट कलर्स का कॉम्बिनेशन आंखों को सुकून देता है। अगर आपने हाल ही में दीवारों पर पुताई करवाई है, तो नएपन के लिए दीवारों पर वॉल पेपर्स लगवाएं। कमरे में पेंटिंग्स लगाएं या पुरानी के स्थान पर नई पेंटिग्स को दीवारों पर स्थान दें। यह बदलाव कमरे में ठंडक, नयापन लाते हुए जीवन में जीवंतता बरकरार रखेगा।

सीएफएल का कमाल
अगर आपने किसी लैम्प शेड में बल्ब का प्रयोग किया है तो समय आ गया है कि आप बल्ब को सीएफएल से बदल दें। बल्ब से बहुत ऊष्मा उत्पन्न होती है जो कमरे को गर्म कर देती है।

कुछ और बातों पर ध्यान दें, जैसे- रसोई की खिड़की घर के अंदर न खुलती हो वरना रसोई की सारी गर्मी घर के अंदर आएगी और जितनी देर खाना बनेगा उसकी महक और गर्मी पूरे घर में फैलती रहेगी। घर में कुछ इनडोर प्लांट्स लगाना भी फायदेमंद होता है। जब आते-जाते आपकी नजर खूबसूरत हरे पौधे पर पड़ेगी तो आपका मूड फ्रेश रहेगा। अगर आप लैपटॉप पर काम करते-करते थक जाएं या पढ़ते-पढ़ते आंखें थकान महसूस करें, तब यह पौधे आपको ताजगी का अहसास कराएंगे। इसलिए घर के अंदर-बाहर इनडोर प्लांट जरूर रखें। निश्चित फायदा पहुंचाएगी इनडोर हरियाली।

घर को हवादार बनाने के लिए वेंटिलेशन दुरूस्त रखें। ताजी हवा के आने-जाने का क्रम बने रहने से भी घर ठंडा रहता है। इसके अलावा आप कुछ और ऎसे उपाय अपना सकती हैं जिससे गर्मी में तेज लू और धूप आपको और आपके घर को रखेंगे कूल-कूल।
Show More
राकेश मिश्रा
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned