सूर्य ने बदली अपनी राशि, अब इन राशिवालों के लिए रहेगा खास

Deepesh Tiwari

Publish: Apr, 14 2019 07:19:25 PM (IST) | Updated: Apr, 14 2019 07:19:26 PM (IST)

होरोस्कोप
1/4

भोपाल। वैदिक ज्योतिष में सूर्य का बड़ा महत्व है। ज्योतिष में इसे आत्मा का कारक माना जाता है। ये एक मात्र ऐसा ग्रह है जो कभी वक्री नहीं चलता। वहीं इसके संबंध में माना जाता है कि ये जातक के मान सम्मान का प्रमुख कारक ग्रह है। इसका रत्न माणिक्य माना जाता है। इन्हें नवग्रहों का राजा भी कहा जाता है।

 

पंडित सुनील शर्मा के अनुसार रविवार जिस दिन का कारक ग्रह सूर्य ही माना जाता है, इसी दिन यानि 14 अप्रैल को सूर्य ने मीन से मेष राशि और अश्विनी नक्षत्र में प्रवेश कर लिया है। सूर्य अब 15 फरवरी तक इसी राशि में रहेगा।


वहीं मेष राशि का स्वामी मंगल है और इस राशि में सूर्य उच्च का होता है यानी सूर्य अब अपने पूरे प्रभाव में होगा।

पंडित शर्मा के अनुसार हिन्दू ज्योतिष में सूर्य ग्रह जब किसी राशि में प्रवेश करता है तो वह धार्मिक कार्यों के लिए बहुत ही शुभ समय होता है। इस दौरान लोग आत्म शांति के लिए धार्मिक कार्यों का आयोजन कराते हैं तथा सूर्य की उपासना करते हैं।

विभिन्न राशियों में सूर्य की चाल के आधार पर ही हिन्दू पंचांग की गणना संभव है। जब सूर्य एक राशि से दूसरी राशि में गोचर करता है तो उसे एक सौर माह कहते हैं।


ज्योतिष के अनुसार सूर्य सिंह राशि का स्वामी है और मेष राशि में यह उच्च होता है, जबकि तुला इसकी नीच राशि है। वहीं बुध से योग कर ये बुद्धादित्य योग का निर्माण भी करता है।

सूर्य का वैदिक मंत्र
ॐ आ कृष्णेन रजसा वर्तमानो निवेशयन्नमृतं मर्त्यं च।
हिरण्ययेन सविता रथेना देवो याति भुवनानि पश्यन्।।

सूर्य का तांत्रिक मंत्र
ॐ घृणि सूर्याय नमः।।

सूर्य का बीज मंत्र
ॐ ह्रां ह्रीं ह्रौं सः सूर्याय नमः।।

 

 

MUST READ: आपके बच्चों को भी लग रही है मोबाइल या इंटरनेट की लत? तो जरूर करें ये काम...

internet mayajal

सूर्य परिवर्तन का राशियों पर असर: Effect of surya parivartan...

1. मेष राशि -

सूर्य के प्रभाव से आपके स्वभाव में परिवर्तन देखने को मिलेगा। इस दौरान आपको शीघ्र गुस्सा आ सकता है। ऐसे में अपने गुस्से को शांत करने का प्रयास करें अन्यथा आपका यह गुस्सा किसी झगड़े का कारण बन सकता है। इस दौरान आपको सरकारी कामकाज में लाभ मिलने की प्रबल संभावना है। इसके अलावा इस दौरान परीक्षा में सफलता, मनोरंजन, लाभ की स्थिति, संतान लाभ रहेगा।

 

 

2. वृषभ राशि-

सूर्य का ये गोचर आपकी विदेश जाने की इच्छा को पूरा कर सकता है। इस दौरान आपके विदेश यात्रा पर जाने के योग हैं। वहीं जो जातक पहले ही विदेश में बसे या फिर जॉब के लिए गए हैं उनके करियर का ग्राफ़ ऊँचा होगा।

सेहत के नज़रिए से सूर्य का गोचर वृषभ राशि के जातकों के लिए थोड़ी परेशानी पैदा कर सकता है। इस साथ ही इस दौरान पारिवारिक खर्च, पारिवारिक कार्यों से यात्रा संभव है।

3. मिथुन राशि-

इस अवधि में आपको आर्थिक लाभ मिलेगा। जिससे आपकी आमदनी में वृद्धि हो सकती है या फिर आय के स्रोतों में बढ़ोतरी संभव है। धन की बचत कर पाने में आप सफल होंगे। समाज में मान-सम्मान प्राप्त होगा और आपकी प्रसिद्धि भी बढ़ेगी। कार्यक्षेत्र में कुशल रणनीति से आप लाभान्वित होंगे। साथ ही पराक्रम से लाभ, साझेदारी में सफलता, भाइयों का सहयोग, शत्रु परास्त होंगे।

 

 

4. कर्क राशि-

मुख्य रूप से आपको कार्य क्षेत्र में लाभकारी परिणामों की प्राप्ति होगी। कार्य के प्रति आपका मन लगेगा और आप अपने कार्य से सीनियर्स को प्रभावित करेंगे। सराहनीय कार्यों की वजह से आपका मान-सम्मान और रुतबा बढ़ेगा। आपके सीनियर्स और जूनियर्स दोनों ही आपसे सलाह लेंगे। वहीं व्यापार में उन्नति, पिता से सहयोग, नौकरी में लाभ रहेगा।

 

MUST READ : कमरदर्द है? तो बस 1 गिलास ये पानी आपको देगा आराम!

kamar dard

5. सिंह राशि-

गोचर के दौरान सिंह राशि के जातकों का समाज में सम्मान बढ़ेगा और लोग आपके पास सलाह मशवरा लेने के लिए आएँगे। वहीं आपको भाग्य का साथ मिलेगा और आप विभिन्न क्षेत्रों में सफलता का परचम लहराएंगे।

किस्मत का साथ मिलने के कारण परिस्थितियाँ आपके अनुकूल हो जाएंगी। इस दौरान आपको लंबी यात्रा पर जाना पड़ सकता है। इसके अतिरक्त भाग्योन्नति, धर्म-कर्म में आस्था, प्रभाव में वृद्धि होगी।

 

 

6. कन्या राशि-

सूर्य के गोचर से आपको शारीरिक समस्याएँ हो सकती हैं। आपको बुखार, सिर दर्द के अलावा अन्य बीमारियाँ का सामना करना पड़ सकता है। ऐसी स्थिति में चिकित्सक की सलाह जरुर लें और अपनी सेहत का भी ध्यान रखें।

इस अवधि में आपके ख़र्चों में वृद्धि होगी और किसी अनचाही यात्रा पर भी जाना पड़ सकता है। इसके अलावा कष्ट, बाहरी संबंध में बाधा, यात्रा से बचें।

7. तुला राशि-

वैवाहिक जीवन से जुड़े जातकों को सूर्य के इस गोचर के दौरान थोड़ा संभल कर रहना होगा। इस दौरान जीवनसाथी के साथ तालमेल बनाकर चलना होगा। किसी बात को लेकर उनके साथ बहसबाज़ी भी संभव है लेकिन आपको फिर भी स्थिति को संभालना होगा।

जीवनसाथी की मदद से भी आपको आर्थिक लाभ संभव है। अगर आपका साथी नौकरी पेशा है तो उन्हें जॉब में तरक्की मिलने की संभावना है। इस दौरान जीवनसाथी से सहयोग व लाभ, दैनिक व्यवसाय में उन्नति रहेगी।

 

 

8. वृश्चिक राशि- सूर्य के इस गोचर के प्रभाव से वृश्चिक राशि के जातकों के साहस में वृद्धि होगी और आप किसी भी चुनौती को सहर्ष स्वीकार करने से पीछे नहीं हटेंगे। आप अपने विरोधियों अथवा शत्रुओं को आसानी से पराजित कर सकते हैं।

वे आपका सामना करने से कतराएंगे। वहीं कार्य क्षेत्र में भी आपको शुभ समाचार मिलने की संभावना है। जॉब में आपको सफल परिणामों की प्राप्ति होगी। जबकि व्यापार में रुकावट के बाद सफलता, नौकरीपेशा लाभ पाएंगे।

 

 

MUST READ : MP का ऐसा अनोखा चोर, जो चुराता है केवल बाल्टी, मग और खाना

Anokha chor

9. धनु राशि-

सूर्य के इस गोचर के दौरान आर्थिक लाभ होगा। इस अवधि में आपकी आय में वृद्धि होगी और आय के साधन बढ़ेंगे। वहीं संतान की ओर से आपको ख़ुशियाँ मिलेंगी। संतान अपने कार्यक्षेत्र में अच्छा प्रदर्शन करेगी। शिक्षा में उनका सराहनीय प्रदर्शन आपको गर्व महसूस कराएगा। वहीं संतान लाभ, वाद-विवाद में जीत, उन्नति के योग भी बनेंगे।

 

 

10. मकर राशि-

इस दौरान आपकी चल-अचल संपत्ति में वृद्धि होने की संभावना है। आप इस दौरान कोई वाहन या फिर नई प्रॉपर्टी ख़रीद सकते हैं। सूर्य के गोचर के प्रभाव से समाज में आपकी लोकप्रियता में वृद्धि हो सकती है। पारिवारिक जीवन में आप अपने परिजनों के ऊपर हावी होने का प्रयास कर सकते हैं, जिससे सकारात्मक पारिवारिक माहौल बिगड़ सकता है। लेकिन पारिवारिक कष्टों का सामना करना पड़ सकता है।

11. कुंभ राशि-

सूर्य के गोचर का प्रभाव आपके स्वभाव पर पड़ेगा। इस दौरान आप स्वयं को निडर पाएंगे और बेहद बेबाकी से निर्णय लेंगे। साथ ही आपकी ऊर्जा में वृद्धि होगी और आप कठिन से कठिन कार्य को आसानी से कर गुजरेंगे।

वैवाहिक जीवन में जीवनसाथी की मदद से आर्थिक लाभ मिल सकता है। आपकी संवाद शैली में सकारात्मक बदलाव देखने को मिल सकता है, जिसकी सहायता से आप दूसरों पर अपनी छाप छोड़ने में सफल रहेंगे। इसके अलावा पराक्रम द्वारा लाभ, शत्रुनाश, संचार माध्यम से शुभ समाचार मिल सकता है।

 

 

 

 

12. मीन राशि-

सूर्य का गोचर आपकी भाषा में बदलाव लाएगा। इस दौरान आप दूसरों के प्रति कटु शब्दों का प्रयोग कर सकते हैं जिसके कारण लोग आपसे नाराज़ अथवा दुःखी हो सकते हैं।

इसका प्रभाव मुख्य रूप से आपके रिश्तों पर देखने को मिल सकता है। इसलिए चाहें कम बोलें लेकिन मीठा बोलें। ससुराल पक्ष से रिश्ते थोड़े तल्ख़ रह सकते हैं। वहीं सेहत की दृष्टि से भी यह गोचर आपके लिए परेशानियाँ पैदा कर सकता है।

इस दौरान आपको मानसिक तनाव की शिकायत रह सकती है। इसके साथ ही वाणी के प्रभाव से लाभ होने के अलावा धन का व्यय भी होगा। जबकि शत्रु परास्त होने के साथ ही कुटुम्ब का सहयोग मिलेगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned