आज बना रवियोग, इन कार्यों को करने से मिलेगा पैसा ही पैसा

Sunil Sharma

Publish: Sep, 04 2017 09:14:00 (IST)

Horoscope
आज बना रवियोग, इन कार्यों को करने से मिलेगा पैसा ही पैसा

त्रयोदशी जया संज्ञक तिथि दोपहर १२.१५ तक, तदन्तर चतुर्दशी रिक्ता संज्ञक तिथि प्रारंभ हो जाएगी

त्रयोदशी जया संज्ञक तिथि दोपहर १२.१५ तक, तदन्तर चतुर्दशी रिक्ता संज्ञक तिथि प्रारंभ हो जाएगी। त्रयोदशी तिथि में जनेऊ के अतिरिक्त यात्रा, प्रवेश, युद्ध, वस्त्र, अलंकार, मांगलिक कार्यादि शुभ कहे गए हैं। पर चतुर्दशी तिथि में शुभ व मांगलिक कार्यादि शुभ नहीं होते।

नक्षत्र: श्रवण नक्षत्र पूर्वाह्न ११.१८ तक, तदन्तर धनिष्ठा नक्षत्र है। दोनों ही ‘चर व ऊध्र्वमुख’ संज्ञक नक्षत्र है। श्रवण नक्षत्र में देवस्थापन, घर, पुष्टता, वाहन, सवारी, उपवाटिका व शांति सम्बंधी कार्य तथा धनिष्ठा नक्षत्र, मुंडन, जनेऊ, वास्तु, अलंकार व प्रतिष्ठादिक कार्य शुभ व सिद्ध होते हैं।

योग: अतिगंड नामक नैसर्गिक अशुभ योग रात्रि २.५३ तक, तदन्तर सुकर्मा नामक नैसर्गिक शुभ योग है। अतिगंड नामक योग की प्रथम छ: घटी शुभ कार्यों में त्याज्य है।

विशिष्ट योग: सर्वार्थसिद्धि नामक शुभ योग सूर्योदय से पूर्वाह्न ११.१८ तक, तदन्तर दोष समूह नाशक रवियोग नामक शक्तिशाली शुभ योग है। रवियोग- तिथि, वार, नक्षत्र जन्य कुयोगों की अशुभताओं को नष्ट कर शुभकार्यारंभ के लिए मार्ग प्रशस्त करता है। करण: तैतिल नामकरण दोपहर १२.१५ तक, इसके बाद गरादि करण हैं।

शुभ विक्रम संवत् : 2074
संवत्सर का नाम : साधारण
शाके संवत् : 1939
हिजरी संवत् : 1437, मु.मास: जिलहिज-12
अयन : दक्षिणायन
ऋतु : शरद्
मास : भाद्रपद।
पक्ष : शुक्ल।

शुभ मुहूर्त: आज वाहन क्रय करना, मशीनरी प्रारंभ, जलवा, नामकरण, अन्नप्राशन व हलप्रवहण आदि के श्रवण नक्षत्र में शुभ तथा गृहारम्भ का धनिष्ठा में (केतुयुति दोष) युक्त अशुद्ध मुहूर्त है।

श्रेष्ठ चौघडि़ए: आज सूर्योदय से प्रात: ७.४५ तक अमृत, प्रात: ९.१९ से पूर्वाह्न १०.५२ तक शुभ तथा दोपहर बाद २.०० से सूर्यास्त तक क्रमश: चर, लाभ व अमृत के श्रेष्ठ चौघडि़ए हैं एवं दोपहर १२.०१ से १२.५१ तक अभिजित नामक श्रेष्ठ मुहूर्त है, जो आवश्यक शुभकार्यारम्भ के लिए अत्युत्तम हैं।

व्रतोत्सव: आज से गोत्रि रात्रि व्रत प्रारंभ, ओणम् (केरल में) है तथा रात्रि ११.५६ से पंचक प्रारम्भ। चन्द्रमा: चन्द्रमा रात्रि ११.५६ तक मकर राशि में, इसके बाद कुम्भ राशि में रहेगा। दिशाशूल: सोमवार को पूर्व दिशा की यात्रा में दिशाशूल रहता है। चन्द्र स्थिति के अनुसार आज दक्षिण दिशा की यात्रा लाभदायक व शुभप्रद है। राहुकाल: प्रात: ७.३० से प्रात: ९.०० तक राहुकाल वेला में शुभकार्यारंभ यथासंभव वर्जित रखना हितकर है।

आज जन्म लेने वाले बच्चे
आज जन्म लेने वाले बच्चों के नाम (ग, गि, गु, गे) आदि अक्षरों पर रखे जा सकते हैं। रात्रि ११.५६ तक जन्मे जातकों की जन्म राशि मकर व इसके बाद जन्मे जातकों की राशि कुम्भ होगी। इनका जन्म ताम्रपाद से होगा। जो शुभ माना गया है। सामान्यत: ये जातक विद्यावान, तेजस्वी, पराक्रमी, धनवान, कीर्तिवान, साहसी, गंभीर, काव्य-संगीत में रुचि रखने वाले, नेकनाम तथा इनका किसी न किसी प्रकार सरकारी काम से सम्बंध होता है। मकर राशि वाले जातकों को आज व्ययाधिक्यता के कारण कुछ तनाव और स्वास्थ्य थोड़ा खराब रह सकता है। विशेषकर पेट से सम्बंधित।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned